Latest news
NIT Sexual Harassment Case में प्रौफेसर डिसमिस : MBA की छात्रा ने कहा पेपर में पास करने की एवज में क... बाबा बलबीर सिंह को जत्थेदार घोषित करने वाला निहंग सिंह निकला सरकारी कर्मचारी, जल्द श्री अकाल तख्त पर... जालन्धऱ- स्कूल कीप्रार्थनासभा में गिरा छात्र, अस्पताल में हुई मौत NIA की बड़ी कार्रवाई, अमृतपाल सिंह से संबंधित 1.34 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त ! पंजाब रोडवेज कर्मियों को मिला दीवाली तोहफा हड़ताल खत्म, सरकार ने मानी यह मांग 30 हजार रिश्वत लेते वन विभाग का बड़ा अधिकारी काबू:पेड़ों की कटाई के बदले ठेकेदार से मांगा 35 हजार कमी... Punjab Police के निलंबित AIG मालविंदर की बढ़ी मुश्किले; जबरन वसूली, धोखाधड़ी और रिश्वत लेने का मामला ... जालंधर की 2 लड़कियों ने करवाई आपस में शादी : सुरक्षा के लिए हाईकोर्ट पहुंची; खरड़ के गुरुद्वारा साहि... जांच में शामिल हुए नशा तस्करी केस में बर्खास्त एआईजी राजजीत, वकीलों संग पहुंचे एसटीएफ दफ्तर पंजाब विधानसभा का विशेष सत्र शुरू, दिवंगत शख्सियतों को दी गई श्रद्धांजलि, राज्यपाल ने कहा..

पंजाब के पूर्व डीजीपी सुमेध सिंह सैनी की गिरफ्तारी पर हाई कोर्ट ने इस तारीख तक लगाई रोक

 रोज़ाना पोस्ट 








Punjab and Haryana High Court पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय  ने पंजाब के पूर्व डीजीपी सुमेध सिंह सैनी  के खिलाफ लंबित या दर्ज होने की संभावना वाले सभी मामलों में गिरफ्तारी पर रोक को 20 अप्रैल तक बढ़ा दिया. न्यायमूर्ति अरविंद सिंह सांगवान की पीठ ने कहा है कि 10 सितंबर, 2021 का अंतरिम आदेश सुनवाई की अगली तारीख तक जारी रहेगा. पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट ने सैनी को फरवरी, 2022 तक किसी भी अदालत में व्यक्तिगत रूप से पेश होने से छूट दी थी, जहां उनके खिलाफ कोई मुकदमा लंबित है, लेकिन उन्हें पूर्व अनुमति के बिना देश नहीं छोड़ने का निर्देश दिया था.

 

ये आदेश सैनी द्वारा 2018 में दायर एक याचिका पर पारित किए गए थे, जिसमें उन्होंने अपने खिलाफ दर्ज किसी भी मामले की जांच सीबीआई या पंजाब के बाहर किसी अन्य स्वतंत्र एजेंसी को सौंपने की मांग की थी. उच्च न्यायालय ने पूर्व डीजीपी सुमेध सिंह सैनी को न केवल उसके खिलाफ सभी मामलों में जांच पर, बल्कि सभी पंजीकृत या दर्ज होने की संभावना वाले मामलों में आगामी फरवरी माह में चुनाव संपन्न होने तक गिरफ्तारी पर भी स्पष्ट रोक लगा दी थी. हाईकोर्ट ने कहा था कि आगामी राज्य विधानसभा चुनावों के मद्देनजर गिरफ्तारी राजनीतिक चाल हो सकती है.