Latest news
NIT Sexual Harassment Case में प्रौफेसर डिसमिस : MBA की छात्रा ने कहा पेपर में पास करने की एवज में क... बाबा बलबीर सिंह को जत्थेदार घोषित करने वाला निहंग सिंह निकला सरकारी कर्मचारी, जल्द श्री अकाल तख्त पर... जालन्धऱ- स्कूल कीप्रार्थनासभा में गिरा छात्र, अस्पताल में हुई मौत NIA की बड़ी कार्रवाई, अमृतपाल सिंह से संबंधित 1.34 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त ! पंजाब रोडवेज कर्मियों को मिला दीवाली तोहफा हड़ताल खत्म, सरकार ने मानी यह मांग 30 हजार रिश्वत लेते वन विभाग का बड़ा अधिकारी काबू:पेड़ों की कटाई के बदले ठेकेदार से मांगा 35 हजार कमी... Punjab Police के निलंबित AIG मालविंदर की बढ़ी मुश्किले; जबरन वसूली, धोखाधड़ी और रिश्वत लेने का मामला ... जालंधर की 2 लड़कियों ने करवाई आपस में शादी : सुरक्षा के लिए हाईकोर्ट पहुंची; खरड़ के गुरुद्वारा साहि... जांच में शामिल हुए नशा तस्करी केस में बर्खास्त एआईजी राजजीत, वकीलों संग पहुंचे एसटीएफ दफ्तर पंजाब विधानसभा का विशेष सत्र शुरू, दिवंगत शख्सियतों को दी गई श्रद्धांजलि, राज्यपाल ने कहा..

जसवीर सिंह बग्गा की गिरफ्तारी को लेकर अदालत ने पुलिस को जमकर लताड़ा, मौके पर दी जमानत

माहिर एडवोकेट संदीप बांसल ने दी यह दलील








डीसी घनश्याम थोरी और पुलिस कमिशनर नौनिहाल सिंह ने किया धक्का, मगर अदालत ने दिया इंसाफ- जसवीर सिंह बग्गा

अब यह चिंगारी आग बनेगी और पंजाब के सरकारी दफ्तरों में फैले भ्रष्टाचार को जला कर राख कर देगी – किशनलाल शर्मा

अनिल वर्मा

Lok insaaf party Jasveer singh bagga jalandhar arrest news update लोक इंसाफ पार्टी के जिला प्रधान जसवीर सिंह बग्गा को अदालत से बड़ी राहत मिली है। उनके खिलाफ थाना बारादरी की ओर से सब रजिस्ट्रार मनिंदर सिंह सिद्धू की शिकायत के आधार पर कई धाराओं के तहत कल रात ही पर्चा दर्ज किया गया था। जिसके बाद आज सुबह ही थाना बारादरी की पुलिस ने जसवीर सिंह बग्गा को उसके घर से गिरफ्तार कर लिया। इस दौरान जब विभिन्न समाचार पत्रों में जसवीर सिंह बग्गा के खिलाफ पर्चा दर्ज करने की खबरें प्रकाशित हुई तो उनके समर्थक थाना बारादरी के बाहर इकट्ठे हुए और पंजाब पुलिस और जिला प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की मगर जसवीर सिंह बग्गा ने अपने समर्थकों को शांत करवाया और भ्रष्टाचार के खिलाफ शुरु हुई इस लड़ाई का ज्वाब कानूनी तरीके से देने के लिए कहा।

आज दोपहर थाना बारादरी की पुलिस ने जसवीर सिंह बग्गा को अदालत में पेश किया, जसवीर सिहं बग्गा की ओर से पेश हुए माहिर वकील संदीप बांसल ने पुलिस की इस गिरफ्तारी को गलत बताया और दलील दी कि माननीय सुप्रीम कोर्टे के आदेशों अनुसार पुलिस ऐसे किसी भी आरोपी को बिना नोटिस दिए गिरफ्तार नहीं कर सकती जिस अपराध की सजा सात साल से कम हो। मगर इस केस में जसवीर सिंह बग्गा के खिलाफ आईपीसी की धारा 342,186,384,506 तथा 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है इनमें से किसी भी धारा के तहत सात साल की सजा का प्रावधान नहीं है ऐसे में पुलिस के खिलाफ कारवाई की जाए और जसवीर सिंह बग्गा को जमानत दे कर जांच में शामिल किया जाए।

 

अदालत ने माहिर वकील संदीप बांसल की दलीलों पर मोहर लगाते हुए थाना बारादरी की पुलिस को जमकर लताड़ लगाई और तुरन्त जसवीर सिंह बग्गा को जमानत दे दी। जमानत के बाद कोर्ट से बाहर आते ही बग्गा ने अपने समर्थकों से कहा कि वह हमेशा ही भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज बुलंद करते आए हैं और इस मामले में भी उन्होने कोई गल्त काम नहीं किया था और डीसी घनश्याम थोरी तथा पुलिस कमिशनर नौनिहाल सिहं को उसी दिन सब रजिस्ट्रार जालन्धर-1 मनिंदर सिंह सिद्धू के खिलाफ शिकायत सौंपी थी जिसे दबाकर मेरे खिलाफ देररात मामला दर्ज किया गया और तड़कसार गिरफ्तार करवा दिया।

 

 

इस मौके पर भाजपा नेता किशनलाल शर्मा ने पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान से अपील की कि वह जल्द जालन्धर के डीसी घनश्याम थोरी तथा पुलिस कमिशनर नौनिहाल सिहं को सस्पैंड करें जोकि ऐसे इमानदार और सच पर पहरा देने वाले नौजवानों का हौंसला तोड़ रहे हैं। किशनलाल शर्मा ने कहा कि पंजाब में कई सरकारी दफ्तरो में भ्रष्टाचार इस कद्र फैल चुका है कि अफसर सीना तान कर रिश्वत मांगते हैं। किशनलाल शर्मा ने कहा कि वह पंजाब के सीएम भगवंत मान से अपील करते हैं कि जालन्धर तहसीलों में पिछले पांच सालों दौरान हुई रजिस्ट्रियों की जांच करवाएं जोकि बिना एनओसी के की गई है। आरोप लगाया जा रहा है कि वह सब रजिस्ट्रियां मोटी रिश्वत लेकर की जाती हैं। यह रिश्वत की चैन न टूटे इसी लिए जसवीर सिहं बग्गा के खिलाफ मामला दर्ज करवाया गया है मगर अब यह चिंगारी आग बनेगी और पंजाब के सरकारी दफ्तरों में फैले भ्रष्टाचार को जला कर राख कर देगी।