Latest news
NIT Sexual Harassment Case में प्रौफेसर डिसमिस : MBA की छात्रा ने कहा पेपर में पास करने की एवज में क... बाबा बलबीर सिंह को जत्थेदार घोषित करने वाला निहंग सिंह निकला सरकारी कर्मचारी, जल्द श्री अकाल तख्त पर... जालन्धऱ- स्कूल कीप्रार्थनासभा में गिरा छात्र, अस्पताल में हुई मौत NIA की बड़ी कार्रवाई, अमृतपाल सिंह से संबंधित 1.34 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त ! पंजाब रोडवेज कर्मियों को मिला दीवाली तोहफा हड़ताल खत्म, सरकार ने मानी यह मांग 30 हजार रिश्वत लेते वन विभाग का बड़ा अधिकारी काबू:पेड़ों की कटाई के बदले ठेकेदार से मांगा 35 हजार कमी... Punjab Police के निलंबित AIG मालविंदर की बढ़ी मुश्किले; जबरन वसूली, धोखाधड़ी और रिश्वत लेने का मामला ... जालंधर की 2 लड़कियों ने करवाई आपस में शादी : सुरक्षा के लिए हाईकोर्ट पहुंची; खरड़ के गुरुद्वारा साहि... जांच में शामिल हुए नशा तस्करी केस में बर्खास्त एआईजी राजजीत, वकीलों संग पहुंचे एसटीएफ दफ्तर पंजाब विधानसभा का विशेष सत्र शुरू, दिवंगत शख्सियतों को दी गई श्रद्धांजलि, राज्यपाल ने कहा..

NIT Sexual Harassment Case में प्रौफेसर डिसमिस : MBA की छात्रा ने कहा पेपर में पास करने की एवज में की रेप की कोशिश

पंजाब में जालंधर के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (NIT) के प्रोफेसर को टर्मिनेट कर दिया गया है। प्रोफेसर पर MBA की 2 छात्राओं ने सेक्शुअल हैरेसमेंट के आरोप लगाए थे। छात्राओं का कहना था कि प्रोफेसर ने पास करने का लालच देकर रेप की कोशिश की। जिसके बाद इंस्टीट्यूट की जांच कमेटी ने यह कार्रवाई की।एक छात्रा ने यहां तक कहा था कि शुक्रवार को दोपहर के वक्त प्रोफेसर ने उससे रेप करने की कोशिश की। जब उसने विरोध किया तो प्रोफेसर ने कहा कि उसे पेपर में पास कर देगा। वह विरोध करती रही और तुरंत अपने साथी छात्राओं को इकट्ठा कर लिया।








मामले की जानकारी तुरंत संस्थान को दी गई। जिसके बाद मामला जब महिला सेल के पास पहुंचा तो कार्रवाई की रिपोर्ट केंद्र सरकार को भेजी गई थी। इस पर अब कार्रवाई हो गई। हालांकि पहले मैनेजमेंट की तरफ से ऐसा कोई मामला होने से इनकार किया गया था। जिसके खिलाफ शुक्रवार की रात छात्राओं ने हंगामा किया था।

जालंधर में स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी।

जैसा NIT के डायरेक्टर विनोद कुमार ने बताया
NIT के डायरेक्टर विनोद कुमार कनोजिया ने कहा कि संस्थान के महिला विभाग में एक शिकायत दर्ज करवाई गई थी। जिसकी वुमेन कमिश्नर इन्क्वायरी कर रही थी। सारी इन्क्वायरी होने के बाद उनकी रिपोर्ट के आधार पर हमने बोर्ड ऑफ गवर्नेंस को कार्रवाई के लिए रिकमंडेशन दी थी। बोर्ड ऑफ गवर्नेंस मिनिस्ट्री के अधिकारी भी साथ बैठते हैं। सभी तथ्यों की गहराई से जांच की गई और फिर एक्शन लिया गया।

NIT के डायरेक्टर विनोद कुमार कनोजिया ने कहा- शिकायत करने वाली लड़की ने ये शिकायत करीब 15 दिन पहले संस्थान के वुमेन सेल को दी थी। शिकायत मिलने के बाद कमेटी गठित करने और जांच करने में थोड़ा समय लगता है, इसलिए सारे प्रोसेस को इतना समय लगा। हमने दोनों पक्षों के बयान सुने, लड़की से एविडेंस लिए। सभी तथ्यों की जांच के बाद उक्त कार्रवाई की गई।

NIT के डायरेक्टर विनोद कुमार कनोजिया ने ये भी माना कि शिकायत करने वाली दो लड़कियां थी। जिन्होंने उक्त प्रोफेसर पर आरोप लगाए हैं। दोनों छात्राएं एमबीए की थी, आरोपी प्रोफेसर भी एमबीए का ही है। शिकायत मिलने के बाद हमने अब उक्त प्रोफेसर को टर्मिनेट कर दिया है। डायरेक्टर ने कहा- हमने पीड़िताओं से सीधी बातचीत नहीं की है। पीड़ित छात्राओं से कमेटी ने ही बातचीत की है।

पहले डायरेक्टर ने सभी आरोपों को बताया था गलत
NIT के डायरेक्टर विनोद कुमार कनोजिया पहले कहा था कि संस्थान के अंदर ऐसी कोई भी घटना नहीं हुई है। ना ही हमारे या पुलिस के पास कोई शिकायत आई है। उन्होंने कहा कि सभी आरोप गलत हैं, अगर ऐसा कुछ हुआ होगा तो मामले की निष्पक्ष जांच करवाई जाएगी।