Latest news
जालन्धर नई वार्डबंदी पर सुनवाई आज, निगम पेश करेगा रिकार्ड, 119 आपत्तियाँ हुई थी दर्ज रियल एस्टेट कारोबार को एक ओर झटका, जिला जालन्धर में फिर रिवाईस हुए कलैक्टरेट लिद्दड़ा फ्लाईओवर के नीचे युवकों ने सरेआम की गुंडागर्दी, फायरिंग कर हुए फरार जालंधर-पठानकोट हाईवे पर फास्ट फूड शॉप में आग लगी , फर्नीचर-सामान सब जलकर राख पंजाब जल्द बनेगा औद्योगिक हब, केन्द्रिय मंत्री नितिन गडकरी तथा हरदीप पुरी के साथ सफल रही बैठकें- बलक... कब्जा छुड़ाने गए नगर निगम जालन्धर के जेई को बंधक बना पीटा, डिच मशीन की जब्त, मौके पर पुलिस ने पहुंच ... पूर्व विधायक बैंस के करीबी कंग पर FIR:स्क्रैप कारोबारी से करने आया था अवैध वसूली; पैसे न देने पर फाय... कटारूचक्क को बड़ी राहत, शिकायतकर्ता ने एससी कमिशनर लगाई गुहार, पढ़े पूरी खबर गुरुद्वारा शहीद बाबा निहाल सिंह की याद में 16 जून से 18 जून तक 72वें सालाना शहीदी जोड़ मेले का आयोजन... पंजाब सरकार ने 5 इम्प्रूवमेंट ट्रस्ट और 66 मार्केट कमेटियों के नए चेयरमैन किए नियुक्त, देखे सूचि

जालंधर-फगवाड़ा गेट की हांगकांग मार्किट को सील करने की तैयारी, कांग्रेसी राज में किसने वसूले थे 28 लाख, पढ़े पूुरा मामला ?

अनिल वर्मा – फगवाड़ा गेट की हांगकांग मार्किट के दुकानदारों के खिलाफ निगम बड़ी कारवाई करने की तैयारी कर रहा है यह मार्किट कोरोना महामारी दौरान मोबाईल हाउस के साथ वाली गली में एक पुराने खंडर को गिरा कर नए सिरे से तैयार करवाई गई थी जहां दो मंजिला 28 दुकानें बनाई गई यह सभी दुकाने मोबाईल असैसरी बेचने वालों को बची गई। साल 2021 में इस मार्किट सबंधि बिल्डिंग विभाग को शिकायत पहुंची थी जिसके बाद पूर्व एटीपी (अब बिल्डिंग इंस्पैक्टर) रजिंद्र शर्मा ने दुकानदारों को शोकॉस नोटिस जारी किए थे मगर  बाद सारे दुकानदारों ने अवैध दुकानें बनाने वाले फाईनैंसर के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था और पैसे वापिस मांगने का दबाव बनाया था।





मामले में उस वक्त नया मोड़ आ गया जब फाईनैंसर ने अपने कांग्रेसी पार्टनर तक पहुंच की और निगम कमिशनर पर कारवाई न करने का दबाव बनाया। इस दौरान यह भी अफवाह उड़ी थी कि कांग्रेसी पार्टनर ने सारा मामला सुलझाने के लिए प्रत्येक दुकानदार से एक-एक लाख यानि कुल 28 लाख रुपये वसूले थे  मगर इस अफवाह की दुकानदार पुष्टि नहीं कर रहे। मगर निगम प्रशासन आखिर किसके दबाव में  बैकफुट पर चला गया यह दाल में बहुत कुछ काला होने की और इशारा कर रहा है.

अब सत्ता परिवर्तन होने के बाद एक बार फिर इस मार्कट के दुकानदारों के होश उड़ गए हैं। यहां बिल्डिंग विभाग ने सभी दुकानदारों को सीएलयू तथा मंजूरशुदा कारोबारी नक्शा पेश करने के लिए नोटिस जारी किए थे मगर 28 दुकानदारों में से किसी ने भी इन नोटिसों का ज्वाब नहीं दिया लिहाजा अब बिल्डिंग विभाग के एमटीपी नीरज भट्टी ने हांगकांग मार्किट की सभी दुकानों को सील करने के लिए रिपोर्ट ज्वाईट कमिशनर डा. शिखा भगत को भेज दी थी जोकि अब अप्रूव होकर आगे निगम कमिशनर अभिजीत कपलिश के टेबल पर पहुंच चुकी है।

निगम कमिशनर के साईन के बाद बिल्डिंग विभाग हांगकांग मार्किट को सील करने की कारवाई करेगा। मिली जानकारी अनुसार हांगकांग मार्किट के दुकानदार एक बार फिर फाईनैंसर तथा कांग्रेसी पार्टनर के दरबार पहुंचे है तांकि एक बार फिर निगम कमिशनर पर कारवाई न करने का दबाव बनाया जा सके। अब देखना दिलचस्प होगा कि क्या निगम प्रशासन एक बार फिर कांग्रेसी नेता के दबाव में आकर बैकफुट पर आता है या फिर बिना नक्शा और सीएलयू पास करवाए बनी हांगकांग मार्किट को सील किय जाता है।