Latest news
NIT Sexual Harassment Case में प्रौफेसर डिसमिस : MBA की छात्रा ने कहा पेपर में पास करने की एवज में क... बाबा बलबीर सिंह को जत्थेदार घोषित करने वाला निहंग सिंह निकला सरकारी कर्मचारी, जल्द श्री अकाल तख्त पर... जालन्धऱ- स्कूल कीप्रार्थनासभा में गिरा छात्र, अस्पताल में हुई मौत NIA की बड़ी कार्रवाई, अमृतपाल सिंह से संबंधित 1.34 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त ! पंजाब रोडवेज कर्मियों को मिला दीवाली तोहफा हड़ताल खत्म, सरकार ने मानी यह मांग 30 हजार रिश्वत लेते वन विभाग का बड़ा अधिकारी काबू:पेड़ों की कटाई के बदले ठेकेदार से मांगा 35 हजार कमी... Punjab Police के निलंबित AIG मालविंदर की बढ़ी मुश्किले; जबरन वसूली, धोखाधड़ी और रिश्वत लेने का मामला ... जालंधर की 2 लड़कियों ने करवाई आपस में शादी : सुरक्षा के लिए हाईकोर्ट पहुंची; खरड़ के गुरुद्वारा साहि... जांच में शामिल हुए नशा तस्करी केस में बर्खास्त एआईजी राजजीत, वकीलों संग पहुंचे एसटीएफ दफ्तर पंजाब विधानसभा का विशेष सत्र शुरू, दिवंगत शख्सियतों को दी गई श्रद्धांजलि, राज्यपाल ने कहा..

पंजाब में भाखड़ा ब्यास मैनेजमेंट बोर्ड (BBMB) पर अधिकार को लेकर राजनीतिक जंग शुरू,पंजाब भर में डिप्टी कमिश्नरों को सौंपे मैमोरैंडम

रोजाना पोस्ट 








पंजाब में भाखड़ा ब्यास मैनेजमेंट बोर्ड (BBMB) पर अधिकार को लेकर राजनीतिक जंग छिड़ गई है। आम आदमी पार्टी (AAP) इस मुद्दे पर डिप्टी कमिश्नरों को पंजाब भर में मैमोरैंडम सौंपे। उनका आरोप है कि केंद्र सरकार पंजाब के हक छीन रही है। वहीं सुखबीर बादल ने आप पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि आप सही ढंग से पैरवी के बजाय पंजाबियों के साथ फ्रॉड न करें। वहीं भाजपा इस मुद्दे को बेवजह तूल देने का आरोप जड़ रही है।

BBMB मुद्दे पर पाखंड कर रही आम आदमी पार्टी
सुखबीर बादल ने कहा कि आम आदमी पार्टी BBMB मुद्दे पर पाखंड कर रही है। अगर वह गंभीर हैं तो भगवंत मान अरविंद केजरीवाल को कहें कि पंजाब की नदियों का पानी दिल्ली में लेना बंद करें। रिपेरियन सिद्धांत के तहत हरियाणा और राजस्थान के खिलाफ पंजाब का समर्थन करें। ऐसा नहीं कर सकते तो पंजाबियों के साथ इस तरह का फ्रॉड करना बंद करें।

कांग्रेस नेता राणा केपी ने कहा कि भाखड़ा व्यास का प्रोजेक्ट 1948 में शुरू हुआ था। 1963 में पूरा हुआ। बुनियादी तौर पर यह प्रोजेक्ट पंजाब और राजस्थान का था। 1966 में पंजाब री-आर्गेनाइज हुआ तो इसमें हरियाणा, हिमाचल और राजस्थान इसके पार्टनर बन गए। 1976 में जब ब्यास का पानी सतलुज में डाला गया तो इसका नाम भाखड़ा ब्यास मैनेजमेंट बोर्ड (BBMB) रख दिया गया।

पंजाब का मेंबर बोर्ड में राज्य के हितों की रक्षा करता है। हमें यहां से पानी, बिजली और हजारों कर्मचारी यहां काम करते हैं। केंद्र सरकार ने 23 फरवरी को कानून में तब्दीली कर दी कि मेंबर किसी भी राज्य के हो सकते हैं। गवर्नर को मेमोरंडम दिया और उन्होंने कहा कि केंद्र के साथ मामला उठाएंगे।