Latest news
NIT Sexual Harassment Case में प्रौफेसर डिसमिस : MBA की छात्रा ने कहा पेपर में पास करने की एवज में क... बाबा बलबीर सिंह को जत्थेदार घोषित करने वाला निहंग सिंह निकला सरकारी कर्मचारी, जल्द श्री अकाल तख्त पर... जालन्धऱ- स्कूल कीप्रार्थनासभा में गिरा छात्र, अस्पताल में हुई मौत NIA की बड़ी कार्रवाई, अमृतपाल सिंह से संबंधित 1.34 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त ! पंजाब रोडवेज कर्मियों को मिला दीवाली तोहफा हड़ताल खत्म, सरकार ने मानी यह मांग 30 हजार रिश्वत लेते वन विभाग का बड़ा अधिकारी काबू:पेड़ों की कटाई के बदले ठेकेदार से मांगा 35 हजार कमी... Punjab Police के निलंबित AIG मालविंदर की बढ़ी मुश्किले; जबरन वसूली, धोखाधड़ी और रिश्वत लेने का मामला ... जालंधर की 2 लड़कियों ने करवाई आपस में शादी : सुरक्षा के लिए हाईकोर्ट पहुंची; खरड़ के गुरुद्वारा साहि... जांच में शामिल हुए नशा तस्करी केस में बर्खास्त एआईजी राजजीत, वकीलों संग पहुंचे एसटीएफ दफ्तर पंजाब विधानसभा का विशेष सत्र शुरू, दिवंगत शख्सियतों को दी गई श्रद्धांजलि, राज्यपाल ने कहा..

विजीलैंस की रडार पर आया जालन्धर का कांग्रेसी नेता, 12 लाख की “ठगी” का है मामला, जल्द हो सकती है कारवाई !

जालन्धर/अनिल वर्मा -बीते दिन पंजाब के ट्रांस्पोर्ट मंत्री लालजीत सिंह भुल्लर ने जालन्धर पहुंच कर ट्रांस्पोर्ट विभाग में चल रहे भ्रष्टाचार सबंधि डाटा जुटाया था जिसमें बहुचर्चित वीआईपी नंबर घोटाला भी शामिल था जिसमें एक कांग्रेसी नेता की शह पर आरटीए दफ्तर के मुलाजिम ने वीआईपी नंबर PNQ0001 कथित 12 लाख रुपये की रिश्वत लेकर नवांशहर वासी को बेचा था और कंप्यूटर में बैकलॉग एंट्री 2017 की डाल दी गई थी और बाद में यही नंबर को उसी कांग्रेसी नेता की शह पर जालन्धर के माडल टाउन इलाके के रहने वाले व्यक्ति के नाम पर  2020 दौरान स्वैप करवा दिया गया।








अब इस मामले में विजीलैंस ब्यूरो ने शिकंजा कसना शुरु कर दिया है और बीते दिनों इस मामले में जालन्धर आरटीए दफ्तर में काम कर रहे दो मुलाजिमों को विजीलैंस ने ब्यान दर्ज करवाने के लिए बुलाया था। मिली जानकारी अनुसार अब विजीलैंस विभाग नवांशहर निवासी को सम्मन भेजने की तैयारी कर रहा है और इसके बाद उस पते पर भी सम्मन भेजा जाएगा जिस पते पर आरटीए विभाग के मुलाजिमों ने यह नंबर 2020 दौरान स्वैप कर दिया था। जानकारी अनुसार इस मामले में विजीलैंस कांग्रेसी नेता के करीब पहुंच चुकी है जिसकी शह पर यह सारा कांड हुआ।

 

खुद की गर्दन फंसती देख अब कांग्रेसी नेता ने आम आदमी पार्टी के नेता के पैर पकड़ लिए हैं तांकि यह मामला यहीं दब जाए मगर विजीलैंस इस मामले को जल्द ही सुलझा कर आरोपियों के खिलाफ कारवाई करने की तैयारी कर रही है तांकि लंबे समय से लटके केस को खत्म किया जा सके। अब देखना दिलचस्प होगा कि क्या भ्रष्टाचार को जड़ से खत्म करने का दावा करने वाली आम आदमी पार्टी की सरकार कांग्रेसी नेता द्वारा किए भ्रष्टाचार के खिलाफ कारवाई करवाने में सहयोग करती है या फिर केस पर पर्दा डालने के लिए विजीलैंस पर दबाव बनाने की कोशिश करती है।