Latest news
NIT Sexual Harassment Case में प्रौफेसर डिसमिस : MBA की छात्रा ने कहा पेपर में पास करने की एवज में क... बाबा बलबीर सिंह को जत्थेदार घोषित करने वाला निहंग सिंह निकला सरकारी कर्मचारी, जल्द श्री अकाल तख्त पर... जालन्धऱ- स्कूल कीप्रार्थनासभा में गिरा छात्र, अस्पताल में हुई मौत NIA की बड़ी कार्रवाई, अमृतपाल सिंह से संबंधित 1.34 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त ! पंजाब रोडवेज कर्मियों को मिला दीवाली तोहफा हड़ताल खत्म, सरकार ने मानी यह मांग 30 हजार रिश्वत लेते वन विभाग का बड़ा अधिकारी काबू:पेड़ों की कटाई के बदले ठेकेदार से मांगा 35 हजार कमी... Punjab Police के निलंबित AIG मालविंदर की बढ़ी मुश्किले; जबरन वसूली, धोखाधड़ी और रिश्वत लेने का मामला ... जालंधर की 2 लड़कियों ने करवाई आपस में शादी : सुरक्षा के लिए हाईकोर्ट पहुंची; खरड़ के गुरुद्वारा साहि... जांच में शामिल हुए नशा तस्करी केस में बर्खास्त एआईजी राजजीत, वकीलों संग पहुंचे एसटीएफ दफ्तर पंजाब विधानसभा का विशेष सत्र शुरू, दिवंगत शख्सियतों को दी गई श्रद्धांजलि, राज्यपाल ने कहा..

जालन्धर : फिर विवादों में घिरा LED प्रौजेक्ट, मेयर , पार्षद तथा विपक्ष की आज अहम बैठक, LED कम्पनी के खिलाफ बड़ा फैसला लेने की तैयारी

अनिल वर्मा 








LED Street light project in Jalandhar जालन्धर में एक बार फिर स्ट्रीट लाईट का एलईडी प्रोजैक्ट विवादों में घिर चुका है। इस प्रौजेक्ट से खफा कांग्रेसी एक बार फिर एकजुट हो गए हैं हालांकि पिछली सरकार द्वारा पारिरत 274 करोड़ के प्रौजेक्ट का घोटाला उजागर करने के बाद कांग्रेसी नेताओं ने 44 करोड़ का यह नया प्रौजैक्ट लांच किया था इस प्रौजेक्ट के शुरु होने के एक साल बाद अब कांग्रेसी नेताओं की कम्पनी की वर्किंग ठीक नहीं लग रही तथा शहर में लगने वाली एलईडी लाईटों से जहां प्रार्षद नाराज हैं वही आम लोग भी शिकायतों की लंबी लिस्ट लेकर कम्पनी से खफा है।

LED Street Lights at Rs 950 | LED Street Lamp, AC LED Street Light, Light  Emitting Diode Street Light, Light Emitting Diode Street Lamp, एलईडी  स्ट्रीट लाइट - Monarck Electronik Industry, Nagpur | ID: 11313753091

बीते दिनों रैड क्रास भवन में हुई हाउस मीटिंग दौरान इस प्रौजेक्ट पर चर्चा करने के लिए मेयर जगदीश राजा ने एक खास मीटिंग बुलाने की बात कही थी जिसके बाद आज यह बैठक बुलाई गई है। इस बैठक में कमिशनर दीपशिखा के भी शामिल होने की संभावना है। इस प्रौजैक्ट में बड़े घोटाले के आरोप लगाए जा रहे हैं। आरोप है कि कम्पनी ने सर्वे वाली जगह पर लाईटे न लगाने की बजाए पुराने प्वाईंट पर ही लगा दी और इस दौरान न तो पुरानी तारों को बदला गया और न ही मेन स्विच, पोल, ब्रैकेट आदि बदले गए। कम्पनी ने बड़ी चालाकी से पुरानी लाईटों को उतार कर उसका सारा सामान इस्तेमाल कर निगम को नए सामान का बिल भेज दिया।

जबकि शर्तों अनुसार कम्पनी की ओर से पूरे शहर में एलईडी लाईटों संबंधी नई तारों, पोल, ब्रैकेट, स्विच आदि लगाने थे और डार्क जोन को भी रोशन करना था मगर ऐसा नहीं हुआ। आज मीटिंग दौरान जहां कांग्रेसी नेताओं का एलईडी कंपनी के खिलाफ गुस्सा फूटेगा वहीं विपक्ष भी अपनी भड़ास निकालेगा। आज बैठक दौरान एलईडी कंपनी के खिलाफ एकजुट होने वाले पार्षद कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं।