Latest news
NIT Sexual Harassment Case में प्रौफेसर डिसमिस : MBA की छात्रा ने कहा पेपर में पास करने की एवज में क... बाबा बलबीर सिंह को जत्थेदार घोषित करने वाला निहंग सिंह निकला सरकारी कर्मचारी, जल्द श्री अकाल तख्त पर... जालन्धऱ- स्कूल कीप्रार्थनासभा में गिरा छात्र, अस्पताल में हुई मौत NIA की बड़ी कार्रवाई, अमृतपाल सिंह से संबंधित 1.34 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त ! पंजाब रोडवेज कर्मियों को मिला दीवाली तोहफा हड़ताल खत्म, सरकार ने मानी यह मांग 30 हजार रिश्वत लेते वन विभाग का बड़ा अधिकारी काबू:पेड़ों की कटाई के बदले ठेकेदार से मांगा 35 हजार कमी... Punjab Police के निलंबित AIG मालविंदर की बढ़ी मुश्किले; जबरन वसूली, धोखाधड़ी और रिश्वत लेने का मामला ... जालंधर की 2 लड़कियों ने करवाई आपस में शादी : सुरक्षा के लिए हाईकोर्ट पहुंची; खरड़ के गुरुद्वारा साहि... जांच में शामिल हुए नशा तस्करी केस में बर्खास्त एआईजी राजजीत, वकीलों संग पहुंचे एसटीएफ दफ्तर पंजाब विधानसभा का विशेष सत्र शुरू, दिवंगत शख्सियतों को दी गई श्रद्धांजलि, राज्यपाल ने कहा..

जालन्धर- इम्प्रूवमैंट ट्रस्ट प्लाट घोटाले के मास्टर माइंड अजय मल्होत्रा सहित जूनियर सहायक अनुज राय बहाल..

रोजाना पोस्ट- जालन्धर इंप्रूवमैंट ट्रस्ट की सूर्या एनक्लेव स्कीम के प्लाट आबंटन दौरान हुई गड़बड़ियों को दरकिनार कर मास्टर माइंड सीनियर सहायक अजय मल्हौत्रा सहित जूनियर सहायक अनुज राय को सरकार ने अंडर इंक्वायरी बहाल कर दिया है। यह आदेश लोकल बाडी मंत्री डॉ. इंद्रबीर सिंह निज्जर के आदेश के हवाले से इस बारे में आदेशपत्र चीफ सेक्रेटरी विवेक प्रताप सिंह ने जारी किया है। फिलहाल विभागीय विजिलेंस ने कई दूसरे प्लॉटों में जो गड़बड़ी के बारे में जो रिपोर्ट तैयार की थी, उसके बाद की इनक्वायरी फिलहाल लंबित है।








लोकल बॉडीज विभाग के चीफ सेक्रेटरी ने बहाली को लेकर 24 मार्च को लेटर जारी किया, जिसमें 11 मई 2022 को दोनों उक्त मुलाजिमों की दोबारा बहाली का जिक्र है। लगभग एक साल पूरा होने वाला है, लेकिन अभी तक प्लॉटों की अलॉटमेंट में पाई गड़बड़ियों की इनक्वायरी पर ही फैसला नहीं आ सका है।जो रिकार्ड पंजाब पुलिस की विजिलेंस ने लिया था, वो भी लंबित है। इस बीच जालंधर इंप्रूवमेंट ट्रस्ट के उच्चाधिकारियों ने स्टाफ की भारी कमी का मुद्दा सरकार में रखा था।

इसके बाद लोकल बॉडीज मंत्री डॉ. इंद्रबीर सिंह निज्जर ने जांच जारी रखने व इस दौरान मुलाजिमों की बहाली के आदेश दिए हैं। इससे पहले एक अन्य क्लेरिकल स्टाफर को भी मुअत्तल किया गया था। इसके बाद कुल 3 पद खाली हो गए।वहीं, जालंधर में दो साल के पक्के कार्यकारी अधिकारी की भी तैनाती नहीं हो सकी है। जालंधर इंप्रूवमेंट ट्रस्ट में अतिरिक्त प्रभार के तहत तैनात किए गए राजेश चौधरी हफ्ते में 2 से 3 दिन की पब्लिक डीलिंग कर पाते हैं। इससे काम भी प्रभावित होता है।