Latest news
NIT Sexual Harassment Case में प्रौफेसर डिसमिस : MBA की छात्रा ने कहा पेपर में पास करने की एवज में क... बाबा बलबीर सिंह को जत्थेदार घोषित करने वाला निहंग सिंह निकला सरकारी कर्मचारी, जल्द श्री अकाल तख्त पर... जालन्धऱ- स्कूल कीप्रार्थनासभा में गिरा छात्र, अस्पताल में हुई मौत NIA की बड़ी कार्रवाई, अमृतपाल सिंह से संबंधित 1.34 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त ! पंजाब रोडवेज कर्मियों को मिला दीवाली तोहफा हड़ताल खत्म, सरकार ने मानी यह मांग 30 हजार रिश्वत लेते वन विभाग का बड़ा अधिकारी काबू:पेड़ों की कटाई के बदले ठेकेदार से मांगा 35 हजार कमी... Punjab Police के निलंबित AIG मालविंदर की बढ़ी मुश्किले; जबरन वसूली, धोखाधड़ी और रिश्वत लेने का मामला ... जालंधर की 2 लड़कियों ने करवाई आपस में शादी : सुरक्षा के लिए हाईकोर्ट पहुंची; खरड़ के गुरुद्वारा साहि... जांच में शामिल हुए नशा तस्करी केस में बर्खास्त एआईजी राजजीत, वकीलों संग पहुंचे एसटीएफ दफ्तर पंजाब विधानसभा का विशेष सत्र शुरू, दिवंगत शख्सियतों को दी गई श्रद्धांजलि, राज्यपाल ने कहा..

इनोसेंट हाट्र्स कालेज ऑफ एजुकेशन जालन्धर का एक बार फिर शिक्षा के क्षेत्र में बेहतरीन प्रदर्शन

जालन्धर अनिल वर्मा








innocent hearts college result इनोसेंट हाट्र्स कालेज ऑफ एजुकेशन, जालन्धर प्रत्येक वर्ष बेहतर प्रदर्शन के साथ शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी रहा है, जो इस वर्ष भी जीएनडीयू, बी.एड परीक्षा सेमेस्टर-II (मई – 2021) के परिणाम स्पष्ट रूप से परिलक्षित हो रहा है। 45 विद्यार्थी-अध्यापकों में से 39 विद्यार्थी-अध्यापकों ने डिस्टिंक्शन हासिल की है और 43 विद्यार्थी-अध्यापकों ने प्रथम श्रेणी हासिल की है।

कालेज में नर्गिस जैतवानी, कृतिका मागो, मिताली राणा, नेहा गोस्वामी, शिखा सनन, अंकिता सूरी, पलक व तनु अरोड़ा ने 86.73 प्रतिशत अंकों के साथ पहला स्थान हासिल किया। गुणप्रीत कौर ने 85.68 प्रतिशत अंकों के साथ दूसरा, डोरस मल्होत्रा ने 85.26 प्रतिशत अंकों के साथ तीसरा स्थान हासिल किया, अमनप्रीत कौर व कोमल वर्मा ने 84.84 प्रतिशत अंकों के साथ चौथा स्थान हासिल किया।

मेधावी छात्रों ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता, शिक्षकों और कालेज के वातावरण को दिया। गुणप्रीत कौर ने कहा कि दूसरा स्थान हासिल करना मेरे लिए बहुत मायने रखता है क्योंकि मैंने इस परीक्षा के लिए वास्तव में कठिन तैयारी की थी। सारा श्रेय खुद लेना गलत होगा क्योंकि इस तरह मैं अपने शिक्षकों और परिवार द्वारा किए गए प्रयासों को अनदेखा करूंगी। मैं परिश्रमी व प्रेरक शिक्षकों को पाकर बहुत धन्य हूं। इस अवसर पर मैनेजमैंट सदस्यों, प्राचार्य व स्टाफ सदस्यों ने विद्यार्थी-अध्यापकों को उनकी शानदार उपलब्धियों के लिए बधाई दी।