Latest news
NIT Sexual Harassment Case में प्रौफेसर डिसमिस : MBA की छात्रा ने कहा पेपर में पास करने की एवज में क... बाबा बलबीर सिंह को जत्थेदार घोषित करने वाला निहंग सिंह निकला सरकारी कर्मचारी, जल्द श्री अकाल तख्त पर... जालन्धऱ- स्कूल कीप्रार्थनासभा में गिरा छात्र, अस्पताल में हुई मौत NIA की बड़ी कार्रवाई, अमृतपाल सिंह से संबंधित 1.34 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त ! पंजाब रोडवेज कर्मियों को मिला दीवाली तोहफा हड़ताल खत्म, सरकार ने मानी यह मांग 30 हजार रिश्वत लेते वन विभाग का बड़ा अधिकारी काबू:पेड़ों की कटाई के बदले ठेकेदार से मांगा 35 हजार कमी... Punjab Police के निलंबित AIG मालविंदर की बढ़ी मुश्किले; जबरन वसूली, धोखाधड़ी और रिश्वत लेने का मामला ... जालंधर की 2 लड़कियों ने करवाई आपस में शादी : सुरक्षा के लिए हाईकोर्ट पहुंची; खरड़ के गुरुद्वारा साहि... जांच में शामिल हुए नशा तस्करी केस में बर्खास्त एआईजी राजजीत, वकीलों संग पहुंचे एसटीएफ दफ्तर पंजाब विधानसभा का विशेष सत्र शुरू, दिवंगत शख्सियतों को दी गई श्रद्धांजलि, राज्यपाल ने कहा..

पूर्व विधायक राजिंदर बेरी के खासमखास पार्षद मनदीप जस्सल को 5 साल की कैद और जुर्माना, पढ़े पूरी खबर

अनिल वर्मा -जालन्धर सैंट्रल हल्के से पूर्व कांग्रेसी राजिंदर बेरी के खासमखास पार्षद मनदीप जस्सल को अदालत ने 5 साल की सजा सुनाई है। मनदीप जस्सल द्ववारा 2009 दौरान वियाना कांड की हुई हिंसा में जौहल अस्पताल में आगजनी की थी जिसके बाद उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी कोर्ट ने इस मामले में आज मनदीप सिंह जस्सल को अलग अलग धाराओं के तहत 5 साल की सजा सुनाई है।








25 मई 2009 को पुलिस ने जौहल अस्पताल के मालिक डॉक्टर बलजीत सिंह जौहल की शिकायत पर पार्षद मनदीप सिंह जस्सल समेत गुलजारा सिंह, बालमुकंद बिल्ला, शिंगारा राम, राजेश्वर और किशनपाल मिंटू के खिलाफ मामला दर्ज किया था। डॉ. बलजीत सिंह जौहल ने पुलिस को दी शिकायत में आरोप लगाया था कि पार्षद मंदीप जस्सल और उसके साथी अस्पताल में आए और उन्होंने सारा सामान जला दिया। कैश काउंटर में डाका डाला और करीब 70 हजार रुपए ले गए। वहीं, हवलदार मंगत राम ने आरोप लगाया था कि पार्षद और उनके साथियों को रोकने की कोशिश की गई तो उसे भी धमकाया गया था।

Dr. B S Johal (johal Multispeciality Hospital) in Rama Mandi - Best General  Surgeon Doctors in Jalandhar - Justdial

पुलिस ने जौहल अस्पताल में आगजनी और मारपीट करने की शिकायत मिलने के बाद पार्षद मंदीप जस्सल और उसके साथियों के खिलाफ आगजनी के लिए भारतीय दंड संहिता की धारा 435 मारपीट करने के लिए 323, 324, पुलिस कर्मचारियों को डराने धमकाने उनकी ड्यूटी में विघन डालने पर 353 IPC के तहत मामला दर्ज किया था।कोर्ट ने भारतीय दंड संहिता की धारा 435 के तहत सबसे ज्यादा 5 साल की सजा सुनाई है। इसके अलावा IPC की धारा 324 और 353 में 2 साल और धारा 323 में एक साल सजा सुनाई है। कोर्ट ने दोषी को जुर्माना भी लगाया है। सभी सजाएं एक साथ चलेंगी तो जस्सल को अधिकतम 5 साल सजा भुगतनी पड़ेगी।