Latest news
NIT Sexual Harassment Case में प्रौफेसर डिसमिस : MBA की छात्रा ने कहा पेपर में पास करने की एवज में क... बाबा बलबीर सिंह को जत्थेदार घोषित करने वाला निहंग सिंह निकला सरकारी कर्मचारी, जल्द श्री अकाल तख्त पर... जालन्धऱ- स्कूल कीप्रार्थनासभा में गिरा छात्र, अस्पताल में हुई मौत NIA की बड़ी कार्रवाई, अमृतपाल सिंह से संबंधित 1.34 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त ! पंजाब रोडवेज कर्मियों को मिला दीवाली तोहफा हड़ताल खत्म, सरकार ने मानी यह मांग 30 हजार रिश्वत लेते वन विभाग का बड़ा अधिकारी काबू:पेड़ों की कटाई के बदले ठेकेदार से मांगा 35 हजार कमी... Punjab Police के निलंबित AIG मालविंदर की बढ़ी मुश्किले; जबरन वसूली, धोखाधड़ी और रिश्वत लेने का मामला ... जालंधर की 2 लड़कियों ने करवाई आपस में शादी : सुरक्षा के लिए हाईकोर्ट पहुंची; खरड़ के गुरुद्वारा साहि... जांच में शामिल हुए नशा तस्करी केस में बर्खास्त एआईजी राजजीत, वकीलों संग पहुंचे एसटीएफ दफ्तर पंजाब विधानसभा का विशेष सत्र शुरू, दिवंगत शख्सियतों को दी गई श्रद्धांजलि, राज्यपाल ने कहा..

भाजपा मेे कलह-निगम चुनावों से पहले 4 पार्षद, 2 उपप्रधान और दो मंडल प्रधानों का इस्तीफा

रोज़ाना पोस्ट 








पंजाब भाजपा अध्यक्ष अश्वनी शर्मा और नए संगठन मंत्री श्रीनिवासुलू के रविवार को प्रस्तावित जालंधर दौरे से पहले भाजपा में बड़ी बगावत सामने आई है। शुक्रवार शाम को नगर निगम में विपक्षी दल भाजपा के उपनेता पार्षद वरेश मिंटू भगत, पार्षद श्वेता धीर, पार्षद चंद्रजीत कौर संधा व पार्षद अनीता रानी ने पार्टी छोड़ दी। इनके अलावा मंडल प्रधान प्रभदयाल व सौरभ सेठ समेत जिला भाजपा के उपप्रधान विनीत धीर व अमित सिंह संधा ने भी पदों से इस्तीफा दे दिया

इन सभी नेताओं ने आरोप लगाया है कि पार्टी में उनकी लगातार अनदेखी हो रही थी और ऐसे लोगों को आगे किया जा रहा था जो नेताओं की चमचागिरी करते हैं और काम कुछ भी नहीं करते। जालंधर वेस्ट हलके से चार पार्षदों के भाजपा छोड़ने के बाद अब वेस्ट हलके में भाजपा का एक भी पार्षद नहीं रहा है। अश्वनी शर्मा और श्रीनिवासुलू रविवार शाम को जालंधर वेस्ट हलके में ही कार्यकर्ताओं से मीटिंग करनी है। ये इस्तीफे वेस्ट हलके से भाजपा के इंचार्ज एवं प्रदेश प्रवक्ता मोहिंदर भगत के लिए भी बड़ा झटका है।

 

श्वेता धीर ने तो जिला अध्यक्ष पर ही आरोपों की झड़ी लगाई है। उन्होंने कहा कि जब से सुशील शर्मा प्रधान बने हैं, उन्हें किसी कार्यक्रम तक की सूचना नहीं दी जाती। मंडल नंबर 9 के प्रधान सौरव सेठ ने सभी पदों से इस्तीफा देते हुए कहा है कि उन्होंने अपना इस्तीफा अश्वनी शर्मा को भेज दिया है। सौरभ सेठ ने कहा है कि पार्टी में काम करने वाले कार्यकर्ताओं की अनदेखी हो रही है। इसी वजह से वह पार्टी छोड़ रहे हैं।

 

विनीत धीर ने कहा है कि जिला भाजपा अध्यक्ष सुशील शर्मा तो पार्षदों से बात तक नहीं करते। कोई भी फैसला काबिलियत के हिसाब से लेने के बजाए अपने खास लोगों को ही तरजीह देते हैं। उन्होंने कहा कि वह पार्टी के इंडस्ट्रियल सेल के प्रधान रह चुके हैं। जिला उपप्रधान, कार्यकारिणी सदस्य समेत कई महत्वपूर्ण पदों पर पिछले 12 सालों से सेवाएं दे रहे हैं और पार्टी की मजबूती के लिए काम किया है लेकिन पिछले दो साल में हालात काफी बिगड़ गए हैं।