Latest news
NIT Sexual Harassment Case में प्रौफेसर डिसमिस : MBA की छात्रा ने कहा पेपर में पास करने की एवज में क... बाबा बलबीर सिंह को जत्थेदार घोषित करने वाला निहंग सिंह निकला सरकारी कर्मचारी, जल्द श्री अकाल तख्त पर... जालन्धऱ- स्कूल कीप्रार्थनासभा में गिरा छात्र, अस्पताल में हुई मौत NIA की बड़ी कार्रवाई, अमृतपाल सिंह से संबंधित 1.34 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त ! पंजाब रोडवेज कर्मियों को मिला दीवाली तोहफा हड़ताल खत्म, सरकार ने मानी यह मांग 30 हजार रिश्वत लेते वन विभाग का बड़ा अधिकारी काबू:पेड़ों की कटाई के बदले ठेकेदार से मांगा 35 हजार कमी... Punjab Police के निलंबित AIG मालविंदर की बढ़ी मुश्किले; जबरन वसूली, धोखाधड़ी और रिश्वत लेने का मामला ... जालंधर की 2 लड़कियों ने करवाई आपस में शादी : सुरक्षा के लिए हाईकोर्ट पहुंची; खरड़ के गुरुद्वारा साहि... जांच में शामिल हुए नशा तस्करी केस में बर्खास्त एआईजी राजजीत, वकीलों संग पहुंचे एसटीएफ दफ्तर पंजाब विधानसभा का विशेष सत्र शुरू, दिवंगत शख्सियतों को दी गई श्रद्धांजलि, राज्यपाल ने कहा..

कांग्रेस के खिलाफ जालंधर में प्रदर्शन, तीन पार्टियों के नेताओं ने पुलिस पर लगाया यह आरोप

जालंधर 








जालंधर में दो दिन पहले भार्गव कैंप में लड़कियों के सरकारी स्कूल के पास भाजपा प्रत्याशी महेंद्र भगत की रैली में कांग्रेसी और भाजपाइयों के बीच हुए विवाद के बाद सोमवार को पुलिस ने भाजपा समर्थक युवक को गिरफ्तार कर लिया। कांग्रेसी समर्थकों की शिकायत के बाद हुई इस कार्रवाई के विरोध में भाजपा, अकाली और आप एक ही मंच पर इकट्ठा हो गए। भाजपा प्रत्याशी महेंद्र भगत, आप प्रत्याशी शीतल अंगुराल और अकाली नेता कीमती भगत समर्थकों सहित पकड़े गए युवक के समर्थन में थाने पहुंच गए। इससे पहले भाजपा समर्थकों ने नकोदर रोड पर जाम लगाकर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की।

लोगों का आरोप था कि कांग्रेसी विधायक के दबाव में आकर पुलिस ने भाजपा समर्थकों को उठाया है। जब तीनों पार्टियों के नेता मौके पर पहुंचे तो एडीसीपी टू हरपाल सिंह, एसीपी वेस्ट वरयाम सिंह और थाना भार्गव कैंप के प्रभारी कुलदीप सिंह भी मौके पर पहुंच गए। सारे नेता थाने में पहुंचे तो वहां पर भी उनके समर्थकों ने जमकर नारेबाजी की। भाजपा प्रत्याशी महेंद्र भगत ने बताया कि पुलिस ने मुकेश नाम के जिस व्यक्ति को विवाद में उठाया है, वह मौके पर था ही नहीं। वहां की सारी वीडियो पुलिस ने निकलवाई है लेकिन मुकेश उसमें नहीं था। इसके बावजूद कांग्रेसी समर्थकों ने उसका नाम लिखा दिया और पुलिस ने बिना जांच के ही मुकेश को उठा लिया।