Latest news
NIT Sexual Harassment Case में प्रौफेसर डिसमिस : MBA की छात्रा ने कहा पेपर में पास करने की एवज में क... बाबा बलबीर सिंह को जत्थेदार घोषित करने वाला निहंग सिंह निकला सरकारी कर्मचारी, जल्द श्री अकाल तख्त पर... जालन्धऱ- स्कूल कीप्रार्थनासभा में गिरा छात्र, अस्पताल में हुई मौत NIA की बड़ी कार्रवाई, अमृतपाल सिंह से संबंधित 1.34 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त ! पंजाब रोडवेज कर्मियों को मिला दीवाली तोहफा हड़ताल खत्म, सरकार ने मानी यह मांग 30 हजार रिश्वत लेते वन विभाग का बड़ा अधिकारी काबू:पेड़ों की कटाई के बदले ठेकेदार से मांगा 35 हजार कमी... Punjab Police के निलंबित AIG मालविंदर की बढ़ी मुश्किले; जबरन वसूली, धोखाधड़ी और रिश्वत लेने का मामला ... जालंधर की 2 लड़कियों ने करवाई आपस में शादी : सुरक्षा के लिए हाईकोर्ट पहुंची; खरड़ के गुरुद्वारा साहि... जांच में शामिल हुए नशा तस्करी केस में बर्खास्त एआईजी राजजीत, वकीलों संग पहुंचे एसटीएफ दफ्तर पंजाब विधानसभा का विशेष सत्र शुरू, दिवंगत शख्सियतों को दी गई श्रद्धांजलि, राज्यपाल ने कहा..

भ्रष्टाचार पर वार, पंजाब सरकार ने एक साल में 300 अधिकारियों को जेल में डाला, आगे भी जारी रहेगा अभियान-सीएम मान

रोजाना पोस्ट पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान  ने बुधवार को कहा कि भ्रष्टाचार रोधी हेल्पलाइन शुरू होने के एक साल के भीतर कथित रूप से भ्रष्टाचार में लिप्त 300 से अधिक अधिकारियों को सलाखों के पीछे डाल दिया गया है. सीएम मान ने एक वीडियो संदेश में कहा, ‘मैं प्रतिज्ञा लेता हूं कि मेरी सरकार राज्य के लोगों को स्वच्छ, पारदर्शी और उत्तरदायी शासन प्रदान करने के लिए और अधिक प्रयास करेगी.’








1 साल में 300 अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई

सीएम मान ने कहा कि कार्यभार संभालने के पहले दिन से ही पंजाब सरकार ने भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस (Zero Tolerance) की नीति अपनाई है. उन्होंने कहा कि यह बहुत गर्व और संतोष की बात है कि पिछले साल इसी दिन शुरू की गई भ्रष्टाचार विरोधी हेल्पलाइन (Anti-Corruption Helpline) के वांछित परिणाम सामने आए हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि हेल्पलाइन नंबर पर प्राप्त वॉट्सऐप शिकायतों के आधार पर राज्य सरकार ने 300 से अधिक भ्रष्ट अधिकारियों को पकड़ा. 

 

 

‘मंत्री-विधायकों को क्यों लागू नहीं होती नीति?’

इस बीच, शिरोमणि अकाली दल (SAD) ने सीएम मान से यह बताने को कहा कि भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति का मंत्र आम आदमी पार्टी (AAP) के मंत्रियों और विधायकों पर क्यों नहीं लागू होता? मान के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए शिरोमणि अकाली दल के वरिष्ठ नेता महेशिंदर सिंह ग्रेवाल (Maheshinder Singh) ने मुख्यमंत्री से कहा कि प्रचार के हथकंडों से पंजाबियों को बेवकूफ बनाने की कोशिश न करें. उन्होंने एक बयान में कहा, ‘सच्चाई यह है कि आपकी सरकार अब तक की सबसे भ्रष्ट सरकार है और आप भ्रष्टाचार और नैतिक भ्रष्टता दोनों में लिप्त मंत्रियों और विधायकों के खिलाफ कार्रवाई करने में विफल रहे हैं.’