GST विभाग में आज भी काम ठप्प, विजीलैंस की कारवाई रुकवाने के लिए सरकार पर बनाया जा रहा दबाव !

अनिल वर्मा

ट्रांस्पोर्टरों तथा जीएसटी विभाग के आलाधिकारियों के नैक्सिस को विजीलैंस विभाग द्वारा ब्रेक करने के बाद चंगुल में फसे बड़े अफसरों को बचाने के लिए अब जालन्धर जीएसटी भवन में ईटीओ, एईटीसी सहित अन्य अधिकारयों द्वारा काम ठप्प कर सरकार पर दबाव बनाना शुरू कर दिया है। वहीं दूसरी ओर जांच कर रही विजीलैंस को हर दिन इस घोटाले में नए तथ्य मिलने से ओर मजबूती मिलती  जा रही है।

जिसके बाद चंगुल में फंसे अधिकारियों के खिलाफ कानूनी शिकंजा कसता जा रहा है। इस मामले में 21 अगस्त तो विजीलैंस विभाग द्वारा पहली एफआईआर दर्ज की गई थी जिसमें आरोपी ईटीओ, एईटीसी सहित अन्य अधिकारियों से हुई पूछताछ और छापेमारी के बाद इस एफआईआर में 7 अन्य बड़े अधिकारियों के नाम शामिल कर दिए गए थे। जिसके बाद पूरे पंजाब में जीएसटी विभाग में हडक़ंप मच गया था। विजीलैैंस इस मामले में ट्रांस्पोर्टरों तथा फील्ड अफसरों के माध्यम से बड़े अफसरों पर निशाना लगा रही है जोकि फिलहाल सटीक बैठ रहा है।

विजीलैंस विभाग द्वारा कई अधिकारियों की संपतियों का ब्यौरा भी तैयार किया जा रहा है आने वाले दिनों में इस मामले में कई बड़े तथ्य सामने आने की संभावनाए प्रबल दिखाई दे रही है।

इस घोटाला का पर्दाफाश करने के लिए जालन्धर के सीनियर कांग्रेसी नेता ने विभाग से कई अहम दस्तावेज आरटीआई के माध्यम से मांगे थे जिसे पीआईओ ने देने से इंकार दिया था। अब इस मामले में फस्र्ट अपील के तहत उन्हे बुलाया जा रहा है। कांगे्रसी नेता ने कहा कि अगर आरटीआई में मांगे गए सभी दस्तावेज उन्हे मिल गए तो एक ही दिन में पूरे घोटाले से पर्दाफाश हो जाएगा।