पंजाब रोडवेज के जनरल मैनेजर ने किया ऐसा काम की विजीलैंस ने किया गिरफ्तार 

पंजाब रोडवेज फिरोजपुर के डिपो के जनरल मैनेजर और सब इंस्पेक्टर को विजिलेंस ब्यूरो पंजाब की तरफ से 10 हजार रुपए की रिश्वत लेने केस में गिरफ्तार कर लिया है। विजीलेंस ने यह कार्रवाई पंजाब रोडवेज के फिरोजपुर डीपो में तैनात कंडक्टर गुरचरन सिंह की शिकायत पर की।

विजीलेंस ब्यूरो को दी शिकायत में फिरोजपुर डिपो में तैनात कंडक्टर गुरचरन सिंह ने बताया कि सब इंस्पेक्टर गुरमेज सिंह की तरफ से पंजाब रोडवेज फिरोजपुर डिपो के डीजल पंप की चेकिंग के बाद उस पर कोई कार्रवाई न करने और उसकी बदली किसी और शाखा में कराने बदले 16000 रुपए रिश्वत की मांग की गई है और सौदा 10,000 रुपए में तय हुआ है। विजीलैंस की तरफ से तथ्यों की पड़ताल के बाद उस सब इंस्पेक्टर को 2 सरकारी गवाहों की हाजिरी में 10,000 रुपए की रिश्वत लेते हुए काबू कर लिया।

जांच के दौरान आरोपी सब इंस्पेक्टर ने खुलासा किया कि रिश्वत की यह राशि उसने अपने जनरल मैनेजर चरनजीत सिंह बराड़ के कहने पर ली थी। वह पहले भी डिपो के अन्य मुलाजिमों के पास से पैसे इकठ्ठा करके अपने जीएम को देता रहता है। केस की जांच-पड़ताल और ठोस सबूतों के आधार पर विजीलेंस टीम ने आज जीएम चरनजीत सिंह बराड़ को भी गिरफ्तार कर लिया। जीएम को अदालत में पेश किया गया जहां उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है।