जालन्धर: ट्रैवल एजैंटी का धंधा फिर बदनाम, ठगी के मामले में जालन्धर के ट्रैवल एजैंट के खिलाफ पर्चा दर्ज

जालन्धर अनिल वर्मा
दोआबा में जालन्धर की ट्रैवल इंडस्ट्री जितनी मशहूर है उतनी ही ठगी के मामलों में बदनाम भी है। यहां ट्रैवल एजैंटी का धंधा करने वाले कई ठग टैÑवल एजैंटों के खिलाफ ठगी के कई मामले दर्ज हो चुके हैं। बस्ती बावा खेल की पुलिस को अमृतसर निवासी सुमित सिंहने जालन्धर के ट्रैवल एजैंट मंदीप सिंह के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई जिसमें उसने बताया कि उसे टूरिस्ट वीजा पर कनाडा भेजने और बाद में उस वीजा को वर्क परमिट में तबदील करने के लिए 7 लाख की डील हुई थी।

कागज पूरे करने के बाद मंदीप ने पहले 2.16 लाख और बाद में 2.64 लाख रुपये नगद लिए मगर कई महीने बीतने के बाद सुमित का वीजा नहीं लगाया गया। ठगी की आंशका होने के बाद जब सुमित ने मंदीप से पैसे वापिस मांगे तो आरोपी ने धमकाना तथा दबाव बनाना शुरु कर दिया और बाद में दो चैक दे दिए जोकि बैंक में बांऊस हो गए।

मामला पुलिस तक पहुचा और जांच के बाद थाना बस्ती बावा खेल की पुलिस ने ट्रैवल एजैंट मंदीप सिंह के खिलाफ पंजाब प्रीविजल ट्रैवलिंग एक्ट तथा 420 के तहत पर्चा दर्ज किया गया है।