सियाचिन में आए हिमस्खलन में पंजाब के तीन जवान हुए शहीद


 

चंडीगढ़ः सियाचिन ग्लेशियर में सोमवार को आए हिमस्खलन में दोपहर करीब साढ़े तीन बजे की इस घटना में सेना के आठ जवान फंसे थे। आनन-फानन रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया गया, पर बर्फ में फंसे इन लोगों में चार जवानों समेत छह की जान चली गई। इन शहीदों में पंजाब के तीन जवान भी शामिल थे जिनमें मनिन्द्र सिंह निवासी फतेहगढ़ चूड़ियां, मालेरकोटला का वीरपाल तथा मुकेरियां के गांवा सैंदों का डिंपल शामिल है।

बताया गया कि सियाचिन ग्लेशियर क्षेत्र के उत्तरी सेक्टर में तैनात आठ सैन्यकर्मी इस हिमस्खलन की चपेट में आए थे। मामले की जानकारी के बाद फौरन आसपास की चौकियों से जवान उन्हें बचाने पहुंचे, जिसके बाद उन सभी को बर्फ के ढेर के नीचे से निकाला गया।

दरअसल, इनमें से सात बुरी तरह जख्मी हुए थे, जिन्हें मेडिकल टीम की मौजूदगी में हेलीकॉप्टर्स के जरिए नजदीकी मिलिट्री अस्पताल ले जाया गया। वहां उन्हें इलाज मुहैया कराया गया, पर इनमें छह की मौत हो गई। जिनकी जान गई, उनमें चार जवान और दो पोर्टर (सामान ढोने/बोझ ढोने वाले) शामिल थे। इन छह की जान भीषण हायपोथर्मिया की वजह से गई।