नगर निगम के पांच कर्मचारियों की हालत खराब, फिर भी दफ्तरों के हालात बेकाबू

  • कमिशनर के आदेशों तक की परवाह नहीं करते लोग,हर दिन लगता है दफ्तरों में मेला

अनिल वर्मा
नगर निगम कार्यलय में कोविड-19 से बचाव के लिए महज लोक दिखावा किया जा रहा है। कमिशनर करनेश शर्मा के आदेश के बाद महीना पहले सभी ब्रांचों में पब्लिक डीलिंग पर पाबंदी लगाते हुए सप्ताह में दो से तीन दिन तक ही छूट दी गई थी मगर इन आदेशों की परवाह किए बिना ही यहां आने वाले हर व्यक्ति को बिल्डिंग में दाखिल कर सीधे अफसरों के पास डीलिंग के लिए भेजा जा रहा है जिससे यहां काम करने वाले कर्मचारियों में एक बार फिर डर का माहौल बन चुका है।

नगर निगम में दाखिल होने वाला हर तीसरा व्यक्ति बिल्डिंग ब्रांच या प्राप्टी टैक्स ब्रांच से संबधित काम के लिए आ रहा है। जिसमें सबसे अधिक एमटीपी परमपाल सिंह तथा तीसरी मंजिल पर स्थित प्राप्टी टैक्स शाखा में बैठे कर्मचारी डील करते हैं। जिन्हे संक्रमण का सबसे अधिक खतरा बना हुआ है। बतां दें कि परमपाल सिंह प्रत्येक दिन ज्वाईंट कमिशनर हरचरण सिंह तथा कमिशनर करनेश शर्मा से मुलाकात करते हैं। बीते कुछ दिनों से बिल्डिंग इंस्पैक्टर पूजा मान, कर्लक कमल,बबीता, कमलभान तथा बिल्डिंग इंस्पैक्टर पाल परनीत की तबीयक काफी खराब चल रही है जिसके कारण ये सभी कर्मचारी दफ्तर नहीं आ रहे। जानकारी अनुसार यह सभी बुखार की वजह से घर में ही अपना इलाज करवा रहे हैं।

लापरवाही यहां तक है कि कार्यलय में दाखिल होने के बाद हर व्यक्ति को सैनिटाईज करना बहुत जरूरी है मगर बीते वीरवार से एंट्री गेट के पास लगी सैनिटाईजर मशीन का लीक्विड खत्म हो चुका है जिसे रिफिल नहीं करवाया जा रहा। आज एमटीपी परमपाल सिंह ने एंट्री गेट पर ड्यूटी दे रहे कर्मचारियों को साफ शब्दों में कहा कि बिना जरूरी काम के किसी को भी दफ्तर न भेजा जाए तथा बुधवार तथा शुक्रवार को ही पब्लिक डीलिंग की जाएगी इसके अलावा अगर कोई मिलना चाहता है तो उसे न मना कर दिया जाए।

इन दिनों होगी पब्लिक डीलिंग