शेखां बाजार पतंगों की दुकान में बिना लाइसेंस छुपा कर रखा था पटाखों का जखीरा, देखे कैसे पहुंची पुलिस

 बटाला में पटाखों की वजह से हुए भीषण हादसे के बाद भी शहर के लोगों ने सबक नहीं लिया है। मंगलवार को शहर के तंग बाजारों में से एक शेखां बाजार के साथ लगते गुरु बाजार में पतंग की दुकान में जमा किए गए लाखों रुपये के पटाखे पुलिस ने जब्त किए। इस संबंध में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार कर उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया। देर रात तक पुलिस कई और गोदामों पर भी छापेमारी कर रही थी। उल्लेखनीय है कि बीते साल भी जालंधर ढन्न मोहल्ला में एक घर में बनाए गए पटाखा गोदाम में विस्फोट होने से छत गिर गई थी और एक युवती समेत दो लोगों की मौत हो गई थी।

थाना प्रभारी कमलजीत सिंह ने बताया कि उन्हें गुप्त सूचना मिली थी कि गुरु बाजार में पतंगों की दुकान में लाखों के पटाखे स्टोर किए गए हैं। उन्होंने सूचना के आधार पर छापेमारी की तो तीन गोदामों में पड़ा लाखों रुपये का पटाखा बरामद हुआ। उन्होंने बताया किट्टू पतंगांवाला व किशनलाल एंड संस की दुकान में छापामारी की थी। पहले दुकान के साथ बने एक गोदाम में छापेमारी हुई जिसके बाद दुकान के ऊपर बनाई गई दुकानों के शटर खुलवाए गए और अंदर बारूद ही भरा हुआ था। इस कार्रवाई में किट्टू पतंगांवाला के गोदाम से 77 डिब्बे और किशनलाल एंड संस के गोदाम से 32 डिब्बे पटाखों के बरामद किए।

पुलिस ने किट्टू पतंगांवाला के मालिक अखिल दुआ निवासी निजातम नगर और किशनलाल एंड संस के मालिक पुनित दुआ उर्फ मोनू निवासी इसलामगंज के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। बुधवार सुबह पटाखों की कीमत पता करवाई जाएगी। कुछ दिन पहले ही पुलिस कर गई लाइसेंस चेक बाजार के दुकानदारों ने बताया कि इन दुकानों पर कुछ दिन पहले भी पुलिस आई थी और चेतावनी दी थी कि पटाखे न स्टोर किए जाएं। उस समय पुलिस ने दुकानें और गोदाम भी चेक किए थे लेकिन कुछ बरामद नहीं हुआ था। पुलिस ने सभी के पास लाइसेंस चेक किए थे और दो दुकानदारों के पास लाइसेंस था लेकिन वो भी खुले में पटाखे बेचने का था।