शर्मनाक : देखों कैसे सडक़ों पर कूड़ा खाने को मजबूर है यह “मासूम माँ”

अनिल वर्मा
वैसे तो समाज में गऊं को मां का दर्जा हासिल है मगर जालन्धर में इसकी दुर्दशा इस कदर हो चुकी है कि यह हर चौंक चौराहे में कूड़ा खाती साफ दिखाई दे जाती है मगर यह दर्दनाक दृश्य देखकर न तो किसी शहरवासी का दिल पसीचता है और न ही इसके लिए पूरी तरह से जिम्मेदार निगम प्रशासन के अफसरों का। यह दृश्य अजीत नगर से गुरु गोबिंद सिंह ऐवन्यू की तरफ नगर निगम द्वारा बीच सडक़ के बनाए नए कूड़े के डंप का है जहां के हालात दिन ब दिन बिगड़ते ही जा रहे हैं। 

बीते एक सप्ताह से यहां से कूड़ा नहीं उठाया गया जिसके चलते कूड़ा सड़क पर फल रहा है। सुबह शाम इस डंप में मासूम बच्चे कूड़ा भीनते साफ देखे जा सकते हैं तथा दूसरी ओर इसी डंप में आधा दर्जन गंऊएं भी हर वक्त कूड़े में मुंह मारती रहती है। शर्मनाक है कि नगर निगम के खजाने में काऊ सैस के नाम पर लाखों रुपये टैक्स जमा हो रहा है मगर निगम के फ्लाप सिस्टम की वजह से यह गऊंए अभी भी कूड़े में मुंह मार कर तथा सडक़ों पर घूम कर खुद के लिए इंसाफ की मांग कर रही हैं। देखें तस्वीरें..