जालन्धर में फीका रहा संतोख सिंह चौधरी का जलवा, 6 लाख वोटरों ने चौधरी को नकारा


[अनिल वर्मा]
वर्ष 2014 मेंं 70 हजार वोट की लीड से जीतने वाले संतोख सिंह चौधरी इस बार महज 20 हजार की लीड पर ही सिमट गए। उन्हे इस बार 3,81,016 वोट ही हासिल हुए जबकि अकाली दल से चरणजीत सिंह अटवाल को 3,61,435 बसपा से बलविंदर कुमार को 2,03,946 जबकि आप के जस्टिस जोरा सिंह को 25,282 वोट हासिल हुए। जालन्धर से कांग्रेसी उम्मीदवार संतोख सिंह चौधरी ने 20 हजार की लीड से जीत हासिल की है।


मगर जालन्धर सहित नकोदर, आदमपुर में चौधरी को जनता ने पूरी तरह से नकार दिया और अकाली दल तथा बसपा के हक में ज्यादा वोट डाले। वहीं कांग्रेस का $गढ़ माने जाते जालन्धर सैंटर तथा नार्थ में संतोख सिंह चौधरी अटवाल से हार गए। सैंटर हल्के में अटवाल को चौधरी के मुकाबले 5304 वोट ज्यादा मिले जबकि नार्थ 3800 तथा नकोदर में 3808 वोट इसके अलावा आदमपुर में बसपा का बोलबाला रहा और यहां बलविंदर 2000 वोट से आगे रहे।

जबकि शाहकोट में 18992 , फिल्लौर में 9000, करतारपुर में 2562, जालन्धर कैंट में 2421 तथा जालन्धर वैस्ट में 1500 वोट से कांग्रेस आगे रही।


जानकारों की मानें तो अगर जालन्धर वैस्ट हल्के से विधायक सुशील रिंकू संतोख सिंह चौधरी की डूबती नैया को सहारा न देते तो आज कांग्रेस को यह सीट गंवानी पड़ सकती थी क्योंकि इस सीट पर दूसरे पायदान पर शिअद से अटवाल चौधरी को कड़ी टक्कर दे रहे थे।

 

  • #santokh singh chaudhary
  • #jalandhar congress
  •  #jalandhar akali dal
  •  #charanjit singh atwal
  •  #balwinder kumar bsp
  •  #jalandhar loksabha winner 2019

santokh-singh-chaudharys-burning-in-jalandhar-6-lakh-voters-reject-chaudhary