पंजाब : फगवाड़ा नगर निगम के पूर्व सहायक कमिशनर आर्दश कुमार धोखाधड़ी के केस में गिरफ्तार

अनिल वर्मा
पंजाब सरकार द्वारा 14 दिसंबर 2016 को जारी नोटिफिकेशन के आधार पर 49 अयोग्य लाभपात्रियों को कारोबारी प्राप्टी ट्रांस्फर करने के मामले में विजीलैंस टीम कपूरथला ने फगवाड़ा के तत्कालीन सहायक कमिशनर आर्दश कुमार के खिलाफ संगीन धाराओं के तहत केस दर्ज गिरफ्तार किया है। एसएसपी विजीलैंस दलजिंदर सिंह ढिल्लों ने बताया कि फगवाड़ा में 49 किराएदार सरकारी प्राप्टियों में बैठे किराएदारों को मालिकी हक देने के लिए कई तरह की कोताही बरती गई थी।

 

नोटिफिकेशन के अनुसार 150 गज रिहायशी तथा 50 वर्ग गज के कारोबारी संस्थान जोकि पंजाब सरकार की मालिकी थी उन प्राप्टियों पर पिछले 20 सालों से बैठे किराएदारों तथा सबलैटी को मालिकी हक देने का जिक्र किया गया था मगर फगवाड़ा आधीन 49 कारोबारी संस्थानों में बैठे सबलैटी के नोटिफिकेशन में दी गई शर्तो अनुसार आयोग्य होने के बावजूद गल्त ढंग से कन्वैंस डीड जारी की गई। इस संबधि मिली शिकायत के बाद जांच शुरु की गई थी जिसमें नगर निगम फगवाड़ा के तत्त्कालीन सहायक कमिशनर आर्दश कुमार ने अपनी ड्यटी में कोताही बरतते हुए गलत तरीके से अनुचित लाभ लेने तथा रिश्वत लेने की कोशिश की। जिसके आधार पर विजीलैस ब्यूरो जालन्धर में आरोपी आर्दश कुमार के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया।