सियासत : शहीद भगत सिंह की प्रतिमा का विवाद गर्माया,अपनी गल्ती सुधारने के लिए निगम करेगा यह काम

अनिल वर्मा
शहीद भगत सिंह चौंक के सौंदर्यीकरण दौरान खर्च किए गए 5 लाख रुपये के बाद भी निगम प्रशासन की पूरे शहर में खूब किरकिर हो रही है। शहरवासियों ने आरोप लगाया कि जो प्रतिमा लगाई गई है वह शहीद भगत सिंह की छवि से मेल नहीं खाती और जो हाथ इंकलाब का नारा लगाता दर्शाया गया है वह भी उल्टा हाथ है। जोकि शहीद भगत सिंह का अपमान है। यह कभी भी बर्दाशत नहीं किया जाएगा।

सियासी गलियारों में भाजपा के पूर्व विधायक केडी भंडारी सहित कई नेताओं ने भी इस प्रतिमा की बनावट पर आपत्ति जताई है और आरोप लगाया कि है कि निगम प्रशासन ने बिना जांच किए प्रतिमा बनवाई और उसे स्थापित कर दिया। वहीं इलाका पार्षद रीटा बावा ने कहा कि यह स्थापना शहीदी दिवस के मद्देनजर की गई जबकि प्रतिमा में कोई भी त्रुटि नहीं है मगर अब इसी प्रतिमा में निखार लाने के लिए इसमें रंग भरे जाएगें जिससे प्रतिमा का चेहरा शहीद भगत सिंह की छवि की तरह मेल खाता नजर आएगा। इसके लिए थोड़ा इंतजार करना पड़ेगा।