अब अवैध कमर्शियल बिल्डिंगों खिलाफ फास्टट्रैक पर होगी कारवाई, पहले नोटिस पर ही होगी बिल्डिंग सील- हरचरण सिंह

अनिल वर्मा
अवैध कालोनियों के साथ साथ अब निगम ने अवैध बिल्डिंगों खिलाफ कड़ी कारवाई शुरु करने की तैयारी कर ली है। आज ज्वाईंट कमिशनर हरचरण सिंह ने बिल्डिंग विभाग के एसटीपी परमपाल सिंह सहित सभी एटीपी,बिल्डिंग इंस्पैक्टर तथा ड्राफ्ट्समैन के साथ रिव्यू बैठक कर अवैध इमारतों के खिलाफ फास्टट्रैक पर कारवाई करने के लिए आदेश जारी किए हैं। उन्होने कहा कि अवैध इमारत के खिलाफ कारवाई करने के लिए लंबी प्रक्रिया सबसे बड़ी बाधा बन रही थी जिसे अब शॉटकट कर दिया गया है अब बिल्डिंग इंस्पैक्टर फीलड में कहीं भी बन रही अवैध इमारत के खिलाफ तुरन्त कारवाई करेगा इसके लिए 24 घंटे में ही सीलिंग के आदेश जारी किए जाएगें।

बाबा नौ बहार रोड पर बन रही अवैध इमारत ( बिल्डिंग इंस्पेक्टर किरणदीप सिंह )

बातचीत दौरान ज्वाईंट कमिशनर हरचरण सिंह ने कहा कि पहले कंस्ट्रक्टर को शोकॉस नोटिस तथा बाद में 269 तथा 270 के नोटिस जारी किया जाता था मगर इस दौरान कंस्ट्रक्टर पूरी बिल्डिंग का काम खत्म कर देता था मगर इस बार पहले नोटिस के साथ ही बिल्ंिडग को सील कर दिया जाएगा तथा दस्तावेज सही पेश करने पर तुरन्त ही सील खोल दी जाएगी। इससे नगर निगम का राजस्व भी बढ़ेगा और अवैध इमारतों की गिनती भी धीरे धीरे खतम होगी।

ता दें कि बिल्डिंग ब्रांच के पास अवैध कालोनियों तथा बिल्डिंगों की 1 हजार से ज्यादा शिकायतें पैंडिंग है जिसका निपटारा नहीं किया जा रहा। विभाग के पास ऐसी कई बिल्डिंगों शिकायतें आ जाती थी जिसमें बिल्डिंग इंस्पैक्टर की मिलीभगत तथा लंबी कानूनी प्रक्रिया के चलते अवैध इमारते खड़ी की जा रही थी। आज रिव्यू बैठक दौरान ज्वाईंट कमिशनर ने कहा कि सभी बिल्डिंग इंस्पैक्टर हर शुक्रवार अपने इलाके के एटीपी को रिपोर्ट करेंगे तथा हर सोमवार को एटीपी तथा एसटीपी के साथ ज्वाईट कमिशनर रिव्यू करेंगे। इस दौरान लापरवाही बरतने वाले बिल्डिंग इंस्पैक्टरों के खिलाफ भी विभागिय कारवाई करने की तैयारी की जा रही है। आज बैठक दौरान एटीपी राजिन्द्र शर्मा, रविंदर सिंह, विकास दूआ, वजीर सिंह, बिल्डिंग इंस्पैक्टर मनीष अरोड़ा, किरणदीप,हरप्रीत कौर,सोनिया तथा सुषमा दुग्गल शामिल थे।