इज आफ लिविंग इंडेक्स की सूची में जालंधर 32वे स्थान पर, सुरक्षा श्रेणी में 100 में से 96 अंक मिले

इज आफ लिविंग इंडेक्स की सूची में जालंधर ने बड़ी छलांग लगाते हुए देशभर में 32वां स्थान प्राप्त किया है। 10 लाख से कम की जनसंख्या वाले शहरों की रैंकिंग में जालंधर को 100 में से 52.18 अंक मिले हैं। जालंधर पंजाब का इकलौता ऐसा शहर है जिसे इस रैकिंग में स्थान दिया गया। साथ ही जालंधर को सबसे अधिक 100 में से 96 अंक सुरक्षा श्रेणी के लिहाज से मिले हैं। साल 2018 की सूची में जालंधर 77वें स्थान पर था जबकि 2020 में इसे टाप चालीस शहरों में अपनी जगह बनाई। इसे पंजाब का सबसे अधिक रहने योग्य शहर का दर्जा दिया गया है। हालांकि इस वर्ग में शिमला को पहला स्थान मिला लेकिन पंजाब के शहरों में से सिर्फ जालंधर को ही इस लिस्ट में स्थान दिया गया। लिस्ट में आखिरी 62वां स्थान बिहार के मुजफ्फरपुर को दिया गया।

ये भी पढ़े –   कनाडा भेजने के बहाने ठगे 1.90 लाख,एजेंट भाईयो के खिलाफ केस दर्ज

जालंधर के पुलिस कमिश्नर गुरप्रीत सिंह भुल्लर ने कहा कि ये जालंधर के लिए बहुत ही गर्व की बात है। पुलिस जांलधर को देश में रहने लायक सबसे सुरक्षित शहर बनाने के लिए प्रयासरत है और पुलिस का ये प्रयास लगातार जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि अपराध की रोकथाम के साथ-साथ जुर्म का पता लगाने पर लगातार जोर दिया जा रहा है। इस क्रम में दोषियों को पकड़ने के लिए पुलिस ने सख्त चेकिंग अभियान भी चलाया। साथ ही स्ट्रीट क्राइम को रोकने के लिए पुलिस लगातार प्रयासरत है जिससे लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके।

पुलिस कमिश्नर ने जालंधर निवासियों का भी पुलिस को समर्थन और सहयोग देने के लिए धन्यवाद देते हुए कहा कि जालंधर कमिश्नरेट पुलिस तब तक आराम से नहीं बैठेगी ,जब तक जालंधर देश का सबसे सुरक्षित शहर नहीं बन जाता।