इंप्रूवमैंट ट्रस्ट जालन्धर को जोरदार झटका: अलाटियों को 9.41 करोड़ मूल सहित 5.50 करोड़ रुपये ब्याज अदा करने का आदेश जारी

  • इम्प्रूवमैंट ट्रस्ट पर नहीं रहा मध्यमर्ग को “ट्रस्ट”!
  • बैंक से लोन लेकर किया था भुगतान,कई सालों बाद नहीं मिला कब्जा
  • अंत में हुई 25 अलाटियों की जीत, ट्रस्ट को मिली कानूनी लड़ाई में शिक्सत

जालन्धर अनिल वर्मा
इंप्रूवमैंट ट्रस्ट की बीबी भानी स्कीम  को लेकर शहर में खूब किरकिर हो रही है इस मामले में पहले ही डिस्ट्रिट तथा स्टेट कमिशन द्वारा इंप्रूवमैंट ट्रस्ट जालन्धर के खिलाफ फैसला सुनाया था जिसके बाद कई केसों में इंप्रवमैंट ट्रस्ट के चेयरमैन दलजीत सिंह आहलूवालिया के गैरजमानती वारंट तक जारी हो चुके है मगर किसी भी केस में अभी तक दलजीत सिंह आहलूवालिया की गिरफ्तारी नहीं हो सकी। ट्रस्ट ने अपने बचाव के लिए बीते दिनों 25 अलाटियों को नैशनल कंज्यूमर कोर्ट में स्टेट कंज्यूमर कोर्ट के फैसले को चुनौती दी थी जिसे नैशनल कंज्यूमर कोर्ट द्वारा भी खारिज कर दिया गया।

5 allottees win cases against JIT
अब ट्रस्ट को 25 अलाटियों की मूल राशि 9.41 करोड़ रुपये, 5.50 करोड़ ब्याज सहित पांच लाख कानूनी फीस के रूप में देनी होगी। इस स्कीम के बुरी तरह फेल होने के बाद इंम्प्रूमैंट ट्रस्ट के ऊपर मध्मवर्ग का विश्वास पूरी तरह उठ चुका है। इनमें से कई लोगों ने बैंक से लोन लेकर ट्रस्ट को भुगतान किया था मगर ट्रस्ट फ्लैटों का कब्जा नहीं दे रहा था उधर जो फ्लैट तैयार थे उनकी हालत पहले से ही खस्ता थी जिन्हे लेने के लिए अलाटियों ने साफ इंकार कर दिया था।

Bibi Bhani Complex residents protest lack of basic amenities
फिलहाल इस फैसले के बाद ट्रस्ट के लिए 15 करोड़ रुपये जुटाने के लिए बड़ी सम्सया खड़ी हो गई है जिसे जल्द अलाटियों को न अदा किया गया तो अलाटी इस मामले में नैशनल कंज्यूमर कोर्ट में इंप्रूवमैंट ट्रस्ट के खिलाफ अवमानना याचिका भी दायर कर सकते हैं।