Latest news

पटाखा व्यापारियों की तीन एसोसिएशनें हुई एक..विधायक बावा हैनरी समक्ष रखी ये मांगें..सोमवार तक हो सकता है फैसला..



जालन्धर अनिल वर्मा
माननीय सुप्रीमकोर्ट के आदेशों के बाद भी पटाखा व्यापारियों को जिला प्रशासन से कोई राहत नहीं मिलती दिखाई दे रही है जिसके चलते कई पटाखा व्यापारियों ने इस बार पटाखा बेचने से किनारा कर लिया है। पिछले कई सालों से जालन्धर में तीन पटाखा ऐसोसिएशन के करीब 130 मैंबर पटाखा बेचते थे मगर हाईकोर्ट द्वारा लगे प्रतिबंध के बाद पटाखे का व्यापार ठंडा पड़ गया। बतां दे इस बार जालन्धर की तीन पटाखा ऐसोसिएन जिसमें फायर वर्कस ऐसो जालन्धर रजि. ,द जालन्धर होलसेल फायर वर्कस ऐसोसिएशन व महावीर ऐसोसिएशन के सभी सदस्यों ने आपसी रजामंदी से एक ही एसोसिएशन तले काम करने के लिए सहमति दी है।

अब जालन्धर में द जालन्धर फायर वर्कस ऐसोसिएशन की अध्यक्षता में पटाखा व्यापारी पटाखा बेचने की तयारी कर रहे  है। बीते साल हुई सख्ती के बाद इस बार जालन्धर के 130 मैंबरों की बजाए सिर्फ 58 सदस्यों ने ही पटाखा बेचने के लिए एसोसिएशन के पास आवेदन किया है


आज ऐसोसिएशन के तमाम पदाधिकारियों ने नार्थ हल्के के विधायक बावा हैनरी के साथ मुलाकात की और पटाखा व्यापारियों के हित में हुए सप्रीम कोर्ट के फैसले को लागू करने तथा ड्रा सिस्टम को खत्म करने की मांग की। इस मामले में जानकारी देते हुए ऐसोसिएशन के सैक्ट्ररी विकास भंडारी ने कहा कि डीसीपी ने उन्हे इस मामले में कानूनी राय लेने के लिए सोमवार तक का समय मांगा है।

वहीं मेयर जगदीश राजा ने भी कहा कि अगर जिला डिप्टी कमिशनर पटाखा व्यापारियों को लाईसैंस देतें हैं तो वह बल्र्टन पार्क में दुकानें बनवाने का काम शुरु करवाएंगे।