बिजली बिल जमा करने वाली सेवक मशीनें आज 11 बजे से बंद

पावरकॉम के उपभोक्ताओं के लिए आने वाले दिनों मे परेशानी पैदा हो सकती है। सेवक मशीन चलाने वाली कंपनी ने इस बार पावरकॉम से ठेका नहीं लिया है, जिस कारण पूरे पंजाब में 89 मशीनें बंद होने जा रही हैं। जालंधर सर्किल में 8 मशीनें हैं जो शुक्रवार सुबह 11 बजे तक बंद हो जाएगी। सेवक मशीनें बंद होने के बाद उपभोक्ताओं को लंबी लाइन में लगकर बिल जमा करवाना पड़ेगा।

सेवक मशीनों की शुरुआत उपभोक्ताओं के लिए ही की गई थी क्योंकि लंबी लाइन में लगकर घंटों बिल जमा करवाना पड़ता था। अब दोबारा से वही स्थिति पैदा होने जा रही है। वहीं बूटा मंडी बिजली घर में कर्मचारी के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद पावरकॉम की चारों डिविजनों में कर्मचारियों ने पब्लिक डीलिंग कम करने के लिए उपभोक्ताओं को ऑनलाइन बिल जमा कराने की अपील की है। केवल उन उपभोक्ताओं के साथ ही डीलिंग की जा रही है, जिनका काम केवल दफ्तर के अलावा कही नहीं हो सकता है। दफ्तर में दाखिल होने से पहले उपभोक्ताओं का टेंपरेचर चेक किया जा रहा है।

बूटा मंडी बिजली घर को दो बार सैनिटाइज करवाया गया है। लोगों के दिलों में भी डर बैठ गया है। इसलिए काफी उपभोक्ता बिल जमा करवाने में भी गुरेज करने लग गए हैं। कर्मचारी के कोरोना पॉजिटिव आने के बावजूद कैश काउंटरों पर 50 लाख रुपए से अधिक बिलों का भुगतान हुआ है। पावरकॉम के उच्च अधिकारियों ने सभी डिविजनों में इश्तहार लगवा दिए हैं कि लोग खुद जागरूक हों और बिना किसी काम के दफ्तर में न आएं। अगर किसी ने बिल जमा करवाना है तो अकेले ही दफ्तर आएं ताकि भीड़ न लगे।

जालंधर सर्किल में हैं 8 सेवक मशीनें

सेवक मशीनों की सेवाएं 31 जुलाई सुबह 11 बजे बंद हो जाएगी। कर्मचारी ने बताया कि पूरे पंजाब में 89 सेवक मशीनें हैं 27 मशीनें पहले ही बंद हो चुकी हैं और 62 मशीनें शुक्रवार को बंद हो जाएगी। जालंधर सर्किल में 8 सेवक मशीनें हैं। जहां अब बिल जमा नहीं हो पाएगा। सेवक मशीनें बंद होने के बाद लोगों को परेशान होना जाहिर सी बात है। अब लाइन में लग के बिल जमा करवाना होगा। कर्मचारी ने बताया कि कंपनी का ठेका खत्म हो गया है और आगे नहीं हुआ है। कंपनी ने मशीनें बंद होने का इश्तहार सेवक मशीनों के बाहर लगा दिया है।