जालंधर : अटवाल के दफ्तर में भाटिया और भगत में खड़की , गुस्साए भाटिया ने किया बैठक का बायकॉट, हंगामा

  • चरणजीत सिंह अटवाल के बेटे इकबाल सिंह अटवाल के सामने दोनो हुए आगबबूले
  • गुस्साए भाटिया ने किया भगत की सभी बैठकों का बायकॉट

अनिल वर्मा
डिफैंस कालोनी में स्थित अकाली भाजपा के उम्मीदवार चरणजीत सिंह अटवाल के दफ्तर में आज उस समय हंगामा हो गया जब दोपहर तीन बजे जालन्धर वैस्ट हल्के के मंडल प्रधानों की मीटिंग बुलाई गई थी इस बैठक में हिस्सा लेने के लिए महिन्द्र भगत ढाई बजे पहुंच गए और बैठक ठीक तीन बजे शुरु हो गई। बैठक शुरु होने के दस मिनट बाद कमलजीत सिंह भाटिया भी अपने समर्थकों के साथ पहुंच गए लेकिन महिंद्र भगत द्वारा भाटिया को मंंच पर बिठाने की बजाए अंदर दफ्तर में बैठने के लिए कह दिया गया।


जिसके बाद भाटिया तथा उनके समर्थकों ने महिन्द्र भगत के साथ किसी भी बैठक में मंच सांझा करने से इंकार कर दिया और ऐसी सभी बैठकों का बायकॉट करने का ऐलान कर दिया जिसमें महिंद्र भगत शामिल होंगे। इसके बाद भाटिया बिना बैठक में शामिल हुए अपने समर्थकों के साथ वहां से चले गए।

 

यह सारा मामला इकबाल सिंह अटवाल के समक्ष चल रहा था मगर उन्होने भाटिया को मनाने की कोई कोशिश नहीं की और न ही उन्हे रोकने के लिए कहा। वहीं बैठक खत्म होने के बाद यह चर्चा रही कि भाजपा में सीनियर लीडरों की अनदेखी करने से युवा कार्यकर्ताओं के  हौंसले भी चुनाव दौरान प्रचार करने से डगमगा जाते हैं तथा अकाली भाजपा को ऐसे मामलों में सीनियर लीडरों की गरिमा का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

 

करीब आधा चली इस बैठक में बलजीत सिंह नीलामहल, सरबजीत सिंह मक्कड़, जिला भाजपा प्रधान रमन पब्बी, इकबाल सिंह अटवाल सहित वैस्ट हल्के के भाजपा नेता उपस्थित थे। 

 

 

अब देखना होगा कि अकाली भाजपा उम्मीदवार चरणजीत सिंह अटवाल के लिए यह लड़ाई आने वाले दिनों में क्या गुल खिलाएगी।