नार्थ हल्के को “नर्क” बनाने की साजिश रच रहा निगम प्रशासन..? देखें कैसे लगी है “बिमारियां की मंडी” , कई बार सडक़ों पर उतर कर प्रर्दशन कर चुके हैं लोग..हालात जस के तस..

बीते एक महीने पहले सूर्या एन्कलेव की सोसायटी द्वारा 30 कालोनियों के मेन सीवरेज को कथिततौर पर ब्लाक करने के लिए मेन पाईप में दो ट्रालियां मलबा फैंका गया था और सीवरेज का पानी लोगों के घरों के बाहर तथा ईर्द गिर्द जमा हो गया जोकि देखते देखते तालाब का रूप धारण कर गया मगर नगर निगम ने इस समस्या को हल्के में लिया और मलबा निकलाने की बजाए खानापूर्ति करते रहे।


इलाकावासियों ने भाजपा नेता किशनलाल शर्मा के नेतृत्व में कमिशनर तथा कांग्रेस सरकार के खिलाफ रोषप्रर्दशन किया और कैप्टन की अर्थी फूंकने की चेतावनी दे डाली जिसके आधे घंटे बाद ही निगम कमिशनर दीपर्व लाकड़ा दौड़े दौड़े आए और राहत कार्य शुरु करवाया।


मगर एक महीना बीत जाने के बाद भी इलाकावासी इस समस्या से बाहर नहीं निकल पाए हैं। आज सुबह तक उपकार नगर रोड पर स्थित दरगाह के पास वाले सीवरेज से तेजी से पानी बाहर निकल रहा था ऐसा लग रहा था कि जैसे प्रशासन ने एक महीने में कुछ करने की बजाए सिर्फ आईवाश ही किया है। 

इसी तरह इसी रोड के बीचो बीच लगाए गए कूड़े के नाजायज डंप से पिछले 15 दिनों से कूड़़ा नहीं उठाया गया। बतां दें कि बीते दिनों इसी कूड़े से उठने वाली बदबू के कारण नजदीकी स्कूल के छात्र उल्टियां करके बिमार पड़ गए थे जिसकी कई खबरें प्रकाशित हुई थी मगर आज सुबह तक भी यहां से कूड़ा नहीं उठाया गया। लाख  ‘. . . . . . ’