‘‘मलविंदर सिंह लक्की के सिर से उठा कांग्रेसियों का हाथ’’ !

  • कार बाजार के बाद अब APJ कालेज के समीप वाली बिल्डिंग पर शिकंजा कसने की तैयारी

अनिल वर्मा
नगर निगम में अपनी राजनीति चमकाने के लिए मलविंदर लक्की का पैंतरा उनकी राजनीति कैरियर पर ब्रेक लगाने की ओर बढ़ रहा है। इस घटना के बाद लक्की के सिर पर रखा कांगे्रसियों का हाथ अब पीछे हटना शुरु हो चुका है। लक्की के विवाद को सुलझाने के लिए अभी तक किसी भी कांग्रेसी नेता की कोई भूमिका सामने नहीं आई। वहीं मायूस होकर लक्की ने एमटीपी परमपाल सिंह से व्हाट्सअप पर मांगी माफी भी चर्चा का विषय बनी हुई है। नगर निगम इंप्लाईज यूनियन के प्रधान मनदीप सिंह लक्की की इस माफी को सिरे से नकार चुके हैं।


उनका कहना है कि लक्की को उसी तरह नगर निगम दफ्तर आकर मीडिया, कर्मचारी तथा पब्लिक के समक्ष माफी मांगनी पढ़ेगी जिसके बाद उन्हे माफ करने पर विचार किया जाएगा। वहीं बिल्डिंग विभाग ने भी आज लक्की की एपीजे कालेज के समीप वाली विवादित बिल्डिंग के खिलाफ कारवाई करने के लिए भूमिका तैयार करनी शुरु कर दी है। आने वाले दिनों में बिल्डिंग ब्रांच इस इमारत के खिलाफ बड़ी कारवाई कर सकती है।

मलविंदर लक्की को पंजाब सरकार की ओर से पंजाब मीडियम इंडस्ट्री बोर्ड का डायरैक्टर नियुक्त किया था। राजनीतिक गलियारों में इस बात की चर्चा तेज हो रही है कि सरकार आने वाले दिनों में मलविंदर सिंह लक्की को दी गई इस जिम्मेदारी से मुक्त कर सकती है। विधायक परगट सिंह ने लक्की के इस कारनामे बारे मुख्यमंत्री तक शिकायत कर कहा कि मलविंदर लक्की की हरकतों के कारण जनता तथा सरकारी अफसरों में कांग्रेसी की छवि खराब हो रही है। इसलिए ऐसे मामलों में शीघ्र संज्ञान लेने की जरुरत है।