चुनाव प्रचार मेंं पिछड़े “चौधरी”, नहीं मिल रहा “विधायकों तथा पार्षदों” का खुल कर साथ !


  • नाराजगी खत्म करने के बावजूद महिन्द्र सिंह केपी ने बनाई चौधरी के चुनाव प्रचार से दूरी
  • जनता दरबार में सवालों के भागते नजर आते हैं चौधरी

जालन्धर अनिल वर्मा
लोकसभा चुनावों के लिए चल रहे प्रचार दौरान जनता के सवालों से घिरने के बाद कांग्रेसी उम्मीदवार संतोख सिंह चौधरी का चुनावी प्रचार फीका पड़ रहा है। यही नहीं उनका साथ अब विधायक तथा कांग्रेसी पार्षद भी खुलकर देते नजर नहीं आ रहे। भाषण सुनने आये लोग चौधरी के भाषण दौरान ही पंजाब सरकार द्वारा किए गए वायदों पर तीखे सवाल पूछ लेते हैं जिसका ज्वाब चौधरी नहीं दे पा रहे। जिसकी वजह से चौधरी के चुनावी प्रचार में अब जनता का भी हजूम कम होता जा रहा है।

याद करवा दें कि संतोख सिंह चौधरी ने 2014 के लोकसभा चुनावों दौरान 70 हजार अधिक  वोट हासिल करके अपनी जीत का झंड़ा गाड़ा था तब पंजाब में अकाली भाजपा का शासन था मगर अब 2017 के बाद पंजाब में कांग्रेस सरकार सत्ता में है मगर इस बार चौधरी चुनावी प्रचार दौरान काफी कमजोर दिखाई दे रहे हैं।


सोशल मीडिया पर लगातार चौधरी के चुनावी कैंपेन की कई वीडियो वायरल हो रही हैं जहां चौधरी दिन ब दिन कोई न कोई नई कोंट्रवर्सी में घिरते दिखाई दे रहे हैं। बीते रोज जालन्धर के लद्देवाली में चुनावी कैंपेन दौरान जनता ने जब चौधरी से नशे, सरकारी नौकरी, बेरोजगारी भत्ता, सस्ती बिजली, सरकारी स्कूल तथा नशे पर तीखे सवाल पूछे तो चौधरी वहां से ज्वाब दिए बिना ही भाग गए। इसके बाद उनके साथ चुनाव कैंपेन में गए विधायक राजिन्द्र बेरी तथा मेयर जगदीश राजा ने भी जनता से दूरी बनानी ही उचित समझी।


यही नहीं चौधरी ने जहां जनता के सवालों का कोई ज्वाब नहीं दिया वहीं पत्रकारों के सवालों का भी ज्वाब देने से चौधरी ने इंकार कर दिया और कहा कि उनसे सिर्फ चुनावी कैंपेन संबधि ही सवाल पूछा जाए और कोई भी सवाल कोंट्रवर्सी वाला न पूछा जाए।


जालन्धर सीट से टिकट के दावेदार महिन्द्र सिंह केपी ने चाहे कैप्टन अमरेन्द्र सिंह की झप्पी के बाद नाराजगी खत्म करने का ऐलान कर दिया था मगर केपी अभी भी चौधरी के चुनावी प्रचार से दूरी बनाए हुए हैं। सूत्रों अनुसार इस बार चौधरी के हाथ से जालन्धर की सीट जाती दिखाई दे रही है अगर चौधरी जल्द पार्टी के अंदर चल रही नाराजगी को खत्म करने में सफल न हुए तो इस बार चुनावी नतीजे चौधरी के खिलाफ जा सकते हैं।