अवैध कालोनियों का मामला : 5 महिलाओं समेत 30 कॉलोनाइजर के खिलाफ पापरा एक्ट के तहत पर्चा दर्ज

रोज़ाना पोस्ट 

जेडीए (जालंधर डेवलपमेंट अथॉरिटी) के दायरे में अवैध काॅलोनियां काटने के मामले में कमिश्नरेट और जालंधर देहात पुलिस ने रविवार को 19 अवैध काॅलोनियां काटने वाले 30 कॉलोनाइजरों पर पर्चा दर्ज किया। इनमें 5 महिला कॉलोनाइजर शामिल हैं। खास बात है कि गीता मंदिर, अर्बन एस्टेट-फेज टू के प्रधान राजेश अग्रवाल के खिलाफ जेडीए ने 5 दिन में दूसरी बार अवैध काॅलोनी को लेकर पर्चा दर्ज कराया है। पहले बुधवार को पर्चा दर्ज हुआ था, जबकि अब पिंड फोलड़ीवाल में एसएलटी वैली एक्सटेंशन नाम की अवैध काॅलोनी काटने का पर्चा हुआ है। इस पर राजेश अग्रवाल ने कहा कि पर्चा गलत है। जेडीए एनओसी दे चुका है। जेडीए कहता है कि निगम में जाओ और निगम कहता है जेडीए में जाओ। पर्चे के पीछे बड़े कालोनाइजरों की साजिश है। सीपी से मिलकर जांच की मांगे करेंगे। इससे पहले जेडीए के मुख्य प्रशासक (सीए) की शिकायत पर 18 दिसंबर की देर रात को 5 अवैध काॅलाेनियां के 9 कॉलोनाइजरों और 16 दिसंबर को 8 अवैध काॅलोनी के 21 कॉलोनाइजरों पर पापरा एक्ट के तहत पर्चे हुए थे।

सीए करणेश शर्मा ने बताया कि जेडीए की ओर से कुल 92 अवैध काॅलोनी की लिस्ट पुलिस को भेजी है। जेडीए दायरे में आती जालंधर में 59, कपूरथला में 3 और होशियारपुर की 39 अवैध काॅलोनियां हैं। 34 काॅलोनियां काटने वाले 60 कॉलोनाइजरों पर पर्चा हो चुका है। कॉलोनाइजरों ने 10 से 25 फीसदी तक फीस के साथ रेगुलर करने के आवेदन किए पर अब तक न बकाया फीस दी और न अधिकांश कागजात पूरे किए। नोटिस और पर्सनल हियरिंग के बावजूद रेगुलर करने की कार्रवाई पूरी नहीं होने के बाद पर्चे कराने शुरू किए।

ये हैं खामियां: काॅलोनी अप्रूव्ड नहीं, कई मकानों के नक्शे भी नियमानुसार नहीं, संकरी सड़कों के कारण लोग हर रोज झेल रहे परेशानी

1. गोल्ड सिटी, पिंड भाेजेवाल और चौहक, तहसील जालंधर-1
कॉलोनाइजर : 
गोल्डन वेलफेयर सोसायटी, अमित सिक्का, पुत्र गुलशन सिक्का, 925, अर्जुन नगर, जालंधर।

2. पैनी एंक्लेव, पिंड लिदड़ा, तहसील जालंधर-2
कॉलोनाइजर : 
सुरिंदर पाल सिंह, पुत्र जितेंदर सिंह, सलेमपुर मुसलमाना।

3. सुरजीत उद्योग नगर, गांव रायपुर, तहसील जालंधर-2
कॉलोनाइजर :
 जसवंत सिंह, पुत्र ज्ञान सिंह, संजय गांधी नगर

4. ए-वन एंक्लेव, पिंड लड़ोया, सब-तहसील भोगपुर।
कॉलोनाइजर :
 कपिल भल्ला, पुत्र ब्रिजलाल भल्ला और जगदीप सिंह, पुत्र हरभजन सिंह, न्यू जीटीबी नगर।

5. संजय अरोड़ा भागवाली, गांव चौगावा, तहसील जालंधर-2
कॉलोनाइजर : 
अशोक कुमार, पुत्र मदन लाल, 342, शक्ति नगर, जालंधर

6. धालीवाल काॅलोनी, पिंड धालीवाल, तहसील जालंधर-2
कॉलोनाइजर :
 रंजीत सिंह, पुत्र, चरणजीत सिंह, 233-बी, आदर्श नगर, जालंधर और अरविंदर सिंह, पुत्र गुरिंदर सिंह, 472, जेपी नगर।

7. रेजिडेंशियल काॅलोनी, पिंड नाहल, तहसील भोगपुर, जालंधर-2
कॉलोनाइजर : 
सुखलाल, पुत्र ताराचंद, मदनलाल पुत्र काशी राम, पिंड खुरला किंगरा, जालंधर

8. रेजिडेंशियल काॅलोनी, पिंड नाहल, तहसील भोगपुर
कॉलोनाइजर : 
सेवा सिंह, पुत्र राजिंदर सिंह और मलकीत सिंह, पुत्र करनैल सिंह, पिंड ढिढरीया, जालंधर।

9. हुसैन एवेन्यू, पिंड चोमो, जालंधर
कॉलोनाइजर :
 धर्मवीर शर्मा, पुत्र गुरदास राम शर्मा, 824/4-वार्ड नंबर 4, आदमपुर, जालंधर

10. धालीवाल एंक्लेव, पिंड धालीवाल, तहसील जालंधर-2
कॉलोनाइजर : 
मेहर और सरबजीत सिंह, तरलोक सिंह और जगीर सिंह, गुरजिंदर कौर, धालीवाल, जालंधर।

11. लिदड़ा कालोनी, पिंड लिदड़ा, तहसील जालंधर-2
कॉलोनाइजर : 
मदन लाल, पुत्र वीरभान सिंह, 69/2, प्रकाश नगर, मॉडल टाउन, जालंधर।

12. न्यू ग्रीन सिटी, पिंड फोलड़ीवाल, तहसील जालंधर
कॉलोनाइजर : 
निर्मल कौर, पत्नी अरविंदर सिंह, पिंड फोलड़ीवाल।

13. आकाश एंकलेव, गांव वडाला।
कॉलोनाइजर : 
मंगत राम, पुत्र बीरू राम, पिंड मिट्‌ठापुर, जालंधर।

14. हैप्पी कॉलोनी, पिंड जमशेर
कॉलोनाइजर : 
सुरजीत कौर, पत्नी प्रभजोत सिंह, रंजीत कौर, पत्नी परमजीत सिंह, अनिल कुमार पुत्र लुभाया राम, गुरपाल सिंह, पुत्र सतनाम सिंह, गांव जमशेर।

15. हजारा एंक्लेव, पिंड फोलड़ीवाल, जालंधर-1
कॉलोनाइजर :
 जरनैल सिंह, पुत्र तेजा सिंह, गांव फोलड़ीवाल।

16. ग्रीन सिटी, पिंड फोलड़ीवाल, तहसील जालंधर-1
कॉलोनाइजर :
 राजिंदर कुमार, पुत्र देसराज, 66 फुटी रोड, नजदीक व्हाइट डायमंड, जालंधर।

17. जमशेर काॅलोनी, पिंड जमशेर
कॉलोनाइजर :
 राज दविंदर कौर, पत्नी पवित्र सिंह, चुमन मिश्रा पुत्र हाकिम मिश्रा, मकसूदां।

18. एसएलटी वैली एक्सटेंशन,
पिंड फोलड़ीवाल
कॉलोनाइजर :
 राजेश, पुत्र सरदारी लाल, 1032, अर्बन एस्टेट, फेज-वन।

19. गुरुनानक नगर, कुक्कड़ पिंड
कॉलोनाइजर : 
मनीष दत्ता, मलकीत सिंह] ऑफिसर कालोनी, ब्लॉक-बी, सोफी पिंड।

सुनील वालिया के नाम ही 4 अवैध काॅलाेनियां
निगम ने भी अवैध काॅलाेनियां पर पर्चा दर्ज कराने की कार्रवाई शुरू कर दी है। रेगुलर करने के लिए 40 काॅलोनी के आवेदन साल 2016 में निगम ने रद कर दिया था। इसके बाद से मामला दबा रहा, हाल ही में निगम के बिल्डिंग एडहॉक कमेटी के दबाव में कार्रवाई शुरू हुई। अगस्त में निगम ने फीस जमा करा चुके 2 को छोड़कर 38 कॉलोनियों के नाम पब्लिक नोटिस जारी किया। 15 दिन में 8 काॅलाेनियां के कागजात जमा कराए गए, जिसके बाद कमिश्नर करणेश शर्मा ने 30 कालोनी के कॉलोनाइजरों पर पर्चा दर्ज करने के लिए सीपी को सिफारिश की है। इसमें सिल्वर हाइट अपार्टमेंट निवासी सुनील वालिया के नाम ही 4 अवैध काॅलाेनियां है। एसटीपी परमपाल सिंह ने बताया कि सोमवार को सभी कालोनी के रिकाॅर्ड सीपी दफ्तर भेजा जाएगा, ताकि पर्चा दर्ज हो सके।

सीए बोले, रेवेन्यू का हो रहा नुकसान, अवैध काॅलाेनियां के लोग भी काफी परेशान
जेडीए के सीए करणेश शर्मा ने कहा कि कॉलोनाइजर लीगल रूप से कालोनी काटें, अगर कोई परेशानी है तो सीधे मुझसे आकर मिलें। अवैध कॉलोनियों से सरकार को रेवेन्यू का भारी लॉस हो रहा है। अवैध कॉलोनियों में रहने वाले लोग भी काफी परेशान हैं। सड़क, सीवरेज, पानी, स्ट्रीट लाइट जैसी मूलभूत सुविधाओं के लिए लोग तरसते रहते हैं।

कार्रवाई में ढील के कारण गई बबिता कलेर की कुर्सी
हाल ही में जालंधर कैंट के दौरे पर आए सीएम मुख्य प्रमुख सचिव सुरेश कुमार ने मंच पर बैठी जेडीए की पूर्व सीए बबिता कलेर की ओर इशारा कर अवैध कॉलोनियों पर सख्ती की बात कही थी। इसके बावजूद खानापूर्ति होती रही। बीते सप्ताह मुख्य सचिव विनी महाजन ने अवैध कॉलोनियों से हो रहे रेवेन्यू लॉस पर सवाल उठाए थे। इसके बाद जेडीए के साथ निगम ने कार्रवाई शुरू की।