कन्या महाविद्यालय में बाटनिकल गार्डन किया तैयार,पौधों की प्रजातियों के बारे में मिलेगी जानकारी

कन्या महाविद्यालय में छात्राओं को किताबी ज्ञान के साथ-साथ वैज्ञानिक पक्ष की शिक्षा देने के उद्देश्य से बाटनिकल गार्डन तैयार किया गया। विभिन्न  जड़ी- बूटियों चिकित्सक व सजावटी शानदार पौधों के साथ सभी ऋतुओं में जीवंत इस गार्डन से फूलों, फलों की प्रजातियों के संरक्षण व महत्व के बारे में प्रेक्टिकल जानकारी छात्राओं को मिलेगी। प्रत्येक पौधों से संबंधित अध्ययन में उपयोग किया जाता है।

विद्यालय प्रिंसिपल प्रो. अतिमा शर्मा द्विवेदी ने बताया कि कन्या महाविद्यालय सदा छात्राओं के सर्वपक्षीय विकास को केंद्र में रखते हुए ही यह प्रयत्न इस दिशा में एक विकासशील कदम है। उन्होंने कहा कि बाटनिकल गार्डन छात्राओं के लिए किसी भी पौधे के विकास पड़ावों, उनके आकार व व्यवहार को जानने में कारगर माध्यम है। जहां खुले माहौल में छात्राएं विषय की व्यवहारिक जानकारी हासिल करने में मदद मिलेगी।

उन्होंने कहा कि आज के कंपीटिशन भरे माहौल के बीच में छात्राओं को किताबी ज्ञान देकर तैयार करना ही काफी नहीं हैं। इस गार्डन का ज्ञान छात्राओं को ज्यादा से ज्यादा मिले, इसके लिए खास गतिविधियां भी करवाई जा रही है, इससे गार्डन की देखभाल छात्राएं खुद भी करें। इससे उन्हें पता चल सके कि पौधों की जरूरतें क्या है और कब कब उन्हें क्या-क्या चाहिए। ऐसी छोटे-छोटे प्रयासों के जरिए ही उन्हें दिया जाने वाला ज्ञान सदैव उनके भीतर समाया रहेगा और छात्रों को इससे फायदा मिलेगा ।