अमृतसर ब्लू स्टार बरसी , अकाली वर्करों ने की दरबार साहिब में घुसने की कोशिश, पुलिस के साथ हाथ पाइ

अमृतसर. अमृतसर से बड़ी खबर है। शनिवार को यहां सुबह-सुबह ही धर्मस्थल श्री हरिमंदिर साहिब में माहौल खराब हो गया। बताया जाता है कि शिरोमणि अकाली दल अमृतसर के कुछ कार्यकर्ताओं ने दरबार साहिब में जबरदस्ती घुसने की कोशिश की। इस दौरान इनकी पुलिस के साथ हाथापाई की नौबत भी आ गई। शिअद अमृतसर के कार्यकर्ताओं ने प्रशासन विरोधी नारे भी लगाए। हालांकि फिलहाल माहौल शांत बताया जा रहा है।

दरअसल, 1984 में भारतीय सेना ने स्वर्ण मंदिर के अंदर ऑपरेशन ब्लू स्टार चलाया था। शनिवार को इस ऑपरेशन को 36 साल पूरे हो गए हैं। सिख पंथ के लोग यहां मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि देने के लिए धार्मिक आयोजन करता है। यह अलग बात है कि यहां गर्मख्यालियों और सामान्य सिख समुदाय के लोगों के बीच लगभग हर साल विवाद हो जाता है।

इसी तरह आज भी सुबह 6 बजे उस वक्त माहौल खराब हो गया, जब सिख पंथ के गर्मख्याली गुट से संबंधित माने जाते शिरोमणि अकाली दल अमृतसर के कार्यकर्ता जोड़ा घर के पास पहुंच गए। इन लोगों ने श्री हरमंदिर साहिब के अंदर जबरन प्रवेश करने की कोशिश की। उपद्रवियों को रोकने के लिए शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने पुलिस कर्मचारियों के साथ अपनी टास्क फोर्स के कर्मचारी भी तैनात किए हुए हैं। अकाली दल अमृतसर के नेता हरवीर सिंह संधू और जरनैल सिंह शकीरा और सिमरनजीत सिंह मान के बेटे को भी पुलिस ने अंदर नहीं जाने दिया। उनको रोक लिया गया। गरम विचारधारा वाले सिख संगठनों के कार्यकर्ता पुलिस और एसजीपीसी की कार्यप्रणाली के खिलाफ भी नारेबाजी करते रहे।

1000 पुलिसकर्मी तैनात, छह गर्मख्याली एक दिन पहले ही किए जा चुके राउंडअप
ऑपरेशन ब्लू स्टार की बरसी पर शहर का माहौल खराब करने का प्रयास करने के आरोप में पुलिस ने छह गर्म ख्यालियों को शुक्रवार को राउंडअप कर लिया था। इन्हें शहर से बाहर किसी जगह पर पुलिस हिरासत में सुरक्षित रखा गया है। किसी भी तरह की गड़बड़ी से निपटने के लिए पुलिस ने वैसे तो सारे शहर में अलर्ट कर रखा है, लेकिन हाल गेट से लेकर श्री दरबार साहिब और आसपास के रास्तों पर एक हजार से ज्यादा पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है।

शहरभर में लगे 125 नाके, दरबार साहिब के पास दो डीसीपी, छह एडीसीपी और दस एसीपी तैनात
इसके अलावा सारे शहर में सुरक्षा के लिए 125 से ज्यादा जगहों पर नाकाबंदी की जा चुकी है। दरबार साहिब के आसपास दो डीसीपी, छह एडीसीपी और दस एसीपी को चप्पे-चप्पे पर नजर रखने के आदेश दिए गए हैं। कोतवाली थाना, डी डिवीजन, रामबाग, बी डिवीजन, गेह हकीमां और सी डिवीजन थाना व इनके अधीन पड़ती चौकी इंचार्जों को 45 से ज्यादा प्वाइंट्स पर तैनाती कर दी गई है। बिना तलाशी के किसी भी व्यक्ति को श्री दरबार साहिब के आसपास जाने की इजाजत नहीं है।

जालंधर में  500 पुलिसकर्मी तैनात, सीसीटीवी वैन रखेगी नजर
जालंधर में भी सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। ऑपरेशन ब्लू स्टार की बरसी पर किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए पुलिस पूरी तरह तैयार है। शहर की सुरक्षा 500 पुलिस मुलाजिमों के हाथ में होगी। तमाम चौराहों पर पुलिस नाके लगाए गए हैं। यहां महिला पुलिस कर्मियों को भी तैनात किया गया है। दंगा विरोधी दस्ते को भी तैयार रहने को कहा गया है।