ट्रांस्पोर्ट विभाग के आनलाईन पोर्टल पर एजैंटों का कब्जा, बिना एजैंट काम करवाना हुआ असंभव

अनिल वर्मा
पंजाब सरकार की ओर से ड्राईविंग लाईसैंस बनाने वाले आवेदकों को सुविधा देने तथा पार्दशिता के लिए लाने के लिए बनाए गए आनलाईन पोर्टल पर भी एजैंटों का ही कब्जा है। यहां अप्वाईंटमैंट लेना आम व्यक्ति के लिए जंग जीतने के बराबर है। सुबह 9 बजे जैसे ही यह पोर्टल खुलता है तो चंद ही मिनटों में एजैंट अपने अपने आवेदकों के नाम से उसमें अप्वाईंटमैंट बुक करवा लेते हैं मगर बिना एजैंट अगर कोई आवेदक सीधेतौर पर पोर्टल से अप्वाईंटमैंट लेना चाहता है तो उसे नामोशी ही हाथ लगती है। सिर्फ लर्निंग लाईसैंस के लिए ही सारा दिन पोर्टल खुला रहता है।

क्योंकि आॅनलाइन पोर्टल ड्राइविंग लाइसेंस रिन्यूूअल की अपॉइंटमेंट लेने के लिए 100 से अधिक स्लॉट बुक हो रहे हैं, जिसमें से सिर्फ 5 प्रतिशत आम जनता को ड्राइविंग लाइसेंस रिन्यू की अपॉइंटमेंट मिल रही है।

5 months on, automated driving test centres still inoperative

इससे पहले आॅनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस अप्लाई करवाने की अपॉइंटमेंट लेने के लिए 4 से 5 महीने का समय लग रहा था और एजेंट के जरिये 10 से 15 मिनट में ही बुकिंग हो जाती थी। इसके बाद एनआईसी ने गड़बड़ी की आशंका होने पर रिपोर्ट बनाकर चंडीगढ़ भेज दी थी। अब डीएल रिन्यू करवाने पर भी ये ही समस्या पैदा हो रही है।